भोजपुरी नाटक "माटी के बर्तन" का मंचन     
| Rainbow News - Jan 11 2019 3:36PM

विश्व हिंदी दिवस के अवसर पर ही विश्वविद्यालय के इंजीनियरिंग ऑडीटोरियम में  भोजपुरी नाटक “माटी के बर्तन’’ का मंचन किया जिसके लेखक जामिया मिल्लिया इस्लामिया के हिंदी अधिकारी व जामिया दर्पण के संपादक डॉ राजेश कुमार ‘मांझी’ हैं और इस नाटक का निर्देशन श्रीमती पूनम सिंह द्वारा किया गया। इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि प्रोफेसर प्रमोद कुमार जी, कुलसचिव ,जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय रहे और विशिष्ट अतिथि के तौर पर  डॉ अल्का सिन्हा, सुप्रसिद्ध साहित्यकार ने कार्यक्रम की शोभा बढ़ाई।

इस अवसर पर नाट्य मंचन के उपरांत भोजपुरी के प्रसिद्ध रंगकर्मी और रंगश्री के महासचिव श्री महेंद्र प्रसाद सिंह ने भी प्रोफेसर प्रमोद कुमार जी, कुलसचिव ,जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय  और डॉ अल्का सिन्हा के उपरांत  मंचित नाटक के बारे में अपना वक्तव्य दिया| इस नाट्य मंचन में विश्वविद्यालय के अनेक शिक्षक/विभागाध्यक्ष/कर्मचारियों/ अधिकारियों/छात्रों और शोधकर्ताओं ने भाग लिया| विश्व हिंदी दिवस के अवसर पर ही 10 जनवरी 2019 को जामिया मिल्लिया इस्लामिया, केंद्रीय विद्यालय में दो कार्यक्रमों का आयोजन किया गया।

पहला कार्यक्रम प्रातः 11: 00 बजे रखा गया जिसमें अनुवाद के माध्यम से हिंदी का प्रचार-प्रसार विषय पर डॉ बलदेव भाई शर्मा, अध्यक्ष, राष्ट्रीय पुस्तक न्यास द्वारा वक्तव्य दिया। अपने वक्तव्य के बाद डॉ बलदेव भाई शर्मा,  अध्यक्ष राष्ट्रीय पुस्तक न्यास ने उन विजेताओं को पुरस्कृत किया जिन्होंने हिंदी दिवस के अवसर पर सितंबर 2018 में विश्वविद्यालय के राजभाषा हिंदी प्रकोष्ठ द्वारा आयोजित विभिन्न प्रतियोगिताओं में भाग लिया था और सफलता प्राप्त की।

इस कार्यक्रम की अध्यक्षता विश्वविद्यालय के कुलसचिव श्री एपी सिदिद्की , आईपीएस ने की। अपने वक्तव्य में डॉ. बलदेव भाई शर्मा ने बहुत सारी नवीन जानकारियां दीं तथा कार्यक्रम के अध्यक्ष ने भी अपने उद्बोधन में  विश्वविद्यालय के राजभाषा हिंदी प्रकोष्ठ द्वारा किये जा रहे कार्यों की प्रशंसा की| अतिथियों का स्वागत विश्वविद्यालय के जनसंपर्क अधिकारी अहमद अज़ीम और सहायक कुलसचिव प्रशासन ने किया| इस कार्यक्रम का संचालन विश्वविद्यालय के हिंदी अधिकारी डॉ. राजेश कुमार मांझी ने किया और धन्यवाद ज्ञापन डॉ. यशपाल ने किया|

इस कार्यक्रम के विश्वविद्यालय के अनेक शिक्षक/विभागाध्यक्ष/कर्मचारियों/अधिकारियों ने बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया| कार्यक्रम को सफल बनाने में नदीम अख्तर, आदिल अली चौधरी तथा हरी नारायण का विशेष योगदान रहा| 

-लाल बिहारी लाल, नई दिल्ली



Browse By Tags



Other News