अम्बेडकरनगर कांग्रेस प्रत्याशी उम्मेद सिंह निषाद का पर्चा खारिज
| Rainbow News - Apr 24 2019 6:12PM

अम्बेडकरनगर। लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Elections 2019) में कांग्रेस (congress) को यूपी में बड़ा झटका लगा है। यहां फूलन देवी (Phoolan Devi) की सियासी विरासत को बचाने के लिए अंबेडकर नगर से चुनावी मैदान में पति उम्मेद सिंह निषाद (ummed singh nishad) का पर्चा जिला प्रशासन ने खारिज कर दिया है। पर्चा खारिज करने के पीछे नामांकन पत्र में त्रुटि बताई गई है।

कांग्रेस प्रत्याशी उम्मेद सिंह निषाद का नामांकन खारिज होने के बाद जिले की राजनीति में हलचल बढ़ गई है। वहीं, कांग्रेस प्रत्याशी उम्मेद सिंह निषाद ने कहा कि चार सेट में नामांकन पत्र दाखिल किया गया था। पहला सेट 22 तारीख को किया था, जिस पर प्रशासन ने एक नोटिस दिया। नामांकन पत्र में बैंक खाता नहीं था जिसको मैंने उपलब्ध करा दिया था। उन्होंने कहा कि उनका पर्चा भाजपा के इशारे पर खारिज किया गया है।

जाएंगे चुनाव आयोग

कांग्रेस प्रत्याशी उम्मेद सिंह निषाद ने जिला प्रशासन पर आरोप लगाते हुए कहा कि मेरा पर्चा खारिज कर दिया गया। जब हमने इसका जवाब मांगा तो डीएम मारपीट पर उतारू हो गए और मुझको कमरे से बाहर निकाल दिया। उन्होंने कहा कि अब हम चुनाव आयोग जाएंगे। वहीं, जिलाधिकारी अभी इस मामले में मीडिया के सामने कुछ बोलने को तैयार नहीं हैं। बता दें कि अंबेडकर नगर में छठे चरण में 12 मई को मतदान होना है। यहां सीधी टक्कर भाजपा और गठबंधन प्रत्याशी के बीच में है।

कौन हैं उम्मेद निषाद 

गठबंधन के भंवर में फंसी अंबेडकर नगर लोकसभा सीट पर अपना परचम लहराने के लिए कांग्रेस ने बुंदेलखंड के बीहड़ों की रानी कुख्यात डकैत फूलन देवी के पति उम्मेद निषाद पर दांव लगाया था। फूलन देवी जब बीहड़ छोड़ राजनीति में आई तो लोकतंत्र के सबसे बड़े मंदिर लोकसभा में पहुंच गयी। फूलन देवी की मौत के बाद उनके पति उम्मेद निषाद को पत्नी की सियासी विरासत को बचाने के लिए मैदान में उतर थे। उम्मेद निषाद को कांग्रेस ने अपना उम्मीदवार बना कर जिले की राजनीति में नया समीकरण बनाने की कोशिश की थी। लेकिन उनका पर्चा खारिज होने की वजह से अब वह चुनाव नहीं लड़ सकेंगे।



Browse By Tags



Other News