खाद्य सुरक्षा विभाग द्वारा संकलित नमूनों में कुछ अधोमानक और अधिकांश मिथ्याछाप
| - Rainbow News Network - Jun 30 2020 4:42PM

सम्बन्धित विक्रेताओं को कार्यवाही हेतु भेजी जा रही है नोटिस 

जन स्वास्थ्य से खिलवाड़ करने वालों के साथ विभाग नहीं करेगा कोई समझौता: के.के. उपाध्याय

अम्बेडकरनगर। जिले में खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन की टीम द्वारा बीते महीने अभियान चलाकर पूरे जनपद में मिठाई, खाद्य पदार्थों, किराना दुकानों, जलपान गृहों पर छापेमारी कर नमूने संकलित किये गये थे। उन्हें जाँच के लिए प्रयोगशाला में भेजा गया था, जिसमें से कुछ नमूने अधोमानक तथा अधिकांश मिथ्याछाप पाये गये हैं। सम्बन्धित विक्रेताओं को विभाग द्वारा अग्रेतर कार्यवाही हेतु नोटिस जारी की जा रही है। इस सम्बन्ध में रेनबोन्यूज ने मुख्य खाद्य सुरक्षा अधिकारी के.के. उपाध्याय से जानकारी चाही तो उन्होंने बताया कि उनके नेतृत्व में बीते महीनों खाद्य सुरक्षा अधिकारियों की टीम द्वारा अभियान चलाया गया था। इस दौरान पूरे जनपद में संचालित खाद्य पदार्थों की दुकानों से नमूने संकलित कर जाँच हेतु भेजे गये थे। 

सी.एफ.एस.ओ. के.के. उपाध्याय द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार पिछले महीनों लिये गये नमूनों की 20 जाँच रिपोर्ट प्राप्त हो गई है। प्राप्त रिपोर्ट में 1 रस्क तथा 18 नमकीन का नमूना मिथ्याछाप तथा 1 डोडा बर्फी का नमूना अधोमानक पाया गया। नमकीन के मिथ्याछाप आये नमूनों में श्री गणेश, हंगामा, धमाका, जायका, खूबी, खुशी, गोपाल जी, काशी, जियो, एम के एच, राजभोग, श्वेता, आर डी व मोटू-पतलू आदि ब्राण्ड शामिल हैं। इन खाद्य पदार्थों के विक्रेताओं को विभाग अग्रेतर कार्यवाही हेतु नोटिस जारी कर रहा है। 

मुख्य खाद्य सुरक्षा अधिकारी ने बताया कि खाद्य सुरक्षा विभाग की टीम ने मंगलवार 30 जून 2020 को मुख्यालयी शहर अकबरपुर के शहजादपुर उपनगर मंे दोस्तपुर रोड स्थित श्री सांईं निर्मल डेयरी का निरीक्षण किया, जहाँ से दूध का नमूना संकलित किया गया, इसके साथ बगल स्थित कृष्णा दुग्ध डेयरी का निरीक्षण करते हुए पनीर का नमूना लेकर जाँच हेतु भेजा गया। 

इसी तरह खाद्य सुरक्षा जाँच दल ने बसखारी बाजार में दुग्ध विक्रेता फूलचन्द्र यादव से 1 दूध का नमूना लेकर जाँच हेतु भेजा। के.के. उपाध्याय ने बताया कि कटेहरी में रामू गुप्ता की किराना की दुकान का निरीक्षण करते हुए खाद्य तेल (चहक कोल्हू ब्राण्ड) का नमूना लेकर जाँच हेतु भेजा गया। इस तरह आज कुल 4 नमूने जाँच हेतु प्रयोगशाला भेजे गये। 

मुख्य खाद्य सुरक्षा अधिकारी की टीम ने कई परचून की दुकानों, डेयरी, जलपान गृहों पर जाकर खाने-पीने की सामग्रियों की जाँच किया। साथ ही स्वच्छता के दृष्टिगत उन्हें साफ-सफाई पर विशेष ध्यान देने को कहा। कोविड-19 से बचाव के दृष्टिगत सोशल डिस्टैन्सिंग का पालन करने, मास्क लगाकर दुकान पर बैठने की हिदायत दी। खाद्य सुरक्षा विभाग द्वारा की जा रही कार्रवाई से मिलावट करने वाले एवं कम गुणवत्ता की खाद्य सामग्रियाँ बेंचने वालों में हड़कम्प मचा हुआ है। मुख्य खाद्य सुरक्षा अधिकारी के.के. उपाध्याय ने चेतावनी देते हुए कहा कि जन स्वास्थ्य से खिलवाड़ करने वालों के साथ विभाग कोई समझौता नहीं करेगा। 

श्री उपाध्याय ने कहा कि एक दुकानदार के यहाँ जाँच के समय दूध, पनीर, खोवा, घी, दही आदि सभी दुग्ध पदार्थ ताजे और शुद्ध पाये गये। उक्त दुकानदार के यहाँ इसलिए अचानक छापेमारी की गई थी, क्योंकि उसके यहाँ के दुग्ध निर्मित उत्पादों के बारे में एक (ब्राण्डेड /विश्वसनीय) मीडिया द्वारा कथित रूप से शिकायत की गई थी। परन्तु जाँच के दौरान कोई भी ऐसी चीज या पदार्थ नहीं पाया गया जिसको संदेह के आधार पर नमूने के रूप में संकलित किया जाये। 

के.के. उपाध्याय के अनुसार उक्त दुकानदार/व्यवसाई से जब खाद्य सुरक्षा जाँच टीम ने कहा कि तुम्हारे दुकान की बहुत शिकायत मिल रही है, तो दुकानदार ने अपने बचाव में कहा कि ऐसी कोई बात नहीं है। शिकायतकर्ता मीडिया की दूषित मानसिकता रही होगी। इस बारे में के.के. उपाध्याय ने अधिक बात न करके बस इतना ही कहा कि दुकानदार ने शिकायतकर्ता मीडिया परसन के बारे में जो भी कुछ कहा है उसे दूरभाष पर नहीं बताया जा सकता है। उन्होंने कहा कि उक्त दुकानदार को साफ-सफाई रखने की हिदायत दे दी गई है। 

मुख्य खाद्य सुरक्षा अधिकारी उपाध्याय के अनुसार मंगलवार 30 जून 2020 को खाद्य सुरक्षा विभाग की जाँच टीम में सर्वश्री हंसराज प्रसाद, गुलाब चन्द गुप्ता, चित्रसेन तथा भानु प्रताप सिंह शामिल रहे। उक्त जाँच और सैम्पलिंग कार्रवाई उत्तर प्रदेश शासन, जिलाधिकारी अम्बेडकरनगर राकेश कुमार मिश्र व अभिहीत अधिकारी राजवंश श्रीवास्तव के निर्देश पर किया गया था। यह कार्य आगे भी जारी रहेगा। 



Browse By Tags



Other News