चीनी ऐप्‍स पर बैन 'डिजिटल स्‍ट्राइक': रविशंकर प्रसाद 
| Agency - Jul 2 2020 1:48PM

नई दिल्ली। केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने देश में 59 चीनी मोबाइल ऐप्स को बैन किए जाने के केंद्र सरकार के कदम को चीन के ऊपर 'डिजिटल स्ट्राइक' बताया है। रविशंकर प्रसाद ने पश्चिम बंगाल बीजेपी की एक रैली में कहा, हमने देशवासियों के डेटा को सुरक्षित रखने के लिए चीनी ऐप प्रतिबंधित किए। यह चीन पर एक डिजिटल स्ट्राइक है। बता दें कि, लद्दाख में चीन के साथ चल रहे तनाव के बीच भारत ने सोमवार को चीन की 59 मोबाइल ऐप्‍लीकेशंस पर बैन लगा दिया था।

पश्चिम बंगाल में बीजेपी की डिजिटल रैली को संबोधित करते हुए रविशंकर प्रसाद ने कहा, हमने चीन की ऐप्लिकेशंस पर प्रतिबंध लगाकर देशवासियों के डाटा की रक्षा की है। यह डिजिटल स्‍ट्राइक है। रविशंकर ने कहा कि, जैसा कि पीएम मोदी ने कहा कि भारत शांति चाहता है, लेकिन अगर कोई हम पर बुरी नजर डालेगा तो हम उसका करारा जवाब देंगे। उन्‍होंने चीन और भारत के बीच जारी तनाव को लेकर माकपा पर निशाना भी साधा। उन्होंने पश्चिम बंगाल की रैली में ये सवाल भी उठाया कि, सीपीआई (एम) चीन की निंदा क्यों नहीं कर रही है?

बता दें कि केंद्र सरकार ने सोमवार को देश में 59 चीनी मोबाइल ऐप्स पर रोक लगा दी थी। जिसमें टिक-टॉक, यूसी ब्राउसर, शेयर इट, हेलो और लाइकी जैसे कई पॉपुलर ऐप्स शामिल थे। प्रतिबंध लगाने को लेकर सरकार ने कहा था कि देश में डेटा और प्राइवेसी सेफ्टी को देखते हुए यह कदम उठाया गया है। इससे पहले केंद्रीय संचार, इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि टिक-टॉक, यूसी ब्राउज़र और अन्य चीनी ऐप सहित 59 मोबाइल ऐप पर हालिया प्रतिबंध भारतीयों के लिए अपने स्वयं के एप के साथ आने का एक 'शानदार अवसर' है।

रविशंकर प्रसाद ने कहा, 'प्रतिबंध के मद्देनजर जो हमने लगाया है ... मुझे लगता है कि यह एक महान अवसर है। क्या हम भारतीयों द्वारा किए गए बनाए गए अच्छे Apps के साथ आ सकते हैं? विभिन्न कारणों से अपने स्वयं के एजेंडे के साथ विदेशी एप्स पर निर्भरता को रोकें।'



Browse By Tags



Other News