कानपुर घटना- अपराधियों को किसी कीमत पर न छोड़ा जाये: मायावती
| Agency - Jul 3 2020 1:40PM

लखनऊ। कानपुर में हिस्ट्री शीटर विकास दुबे के साथ हुई मुठभेड़ में 8 पुलिसकर्मी शहीद हो गए, जिसमें एक डीएसपी और थाना प्रभारी भी शामिल हैं। मुठभेड़ के बाद हिस्ट्री शीटर विकास दुबे फरार हो गया, जबकि उसके तीन साथियों को पुलिस ने मार गिराया। हिस्ट्री शीटर की तलाश में जगह-जगह छापेमारी की जा रही है।

इस घटना के बाद विपक्ष सरकार को घेरने में जुट गया है। कांग्रेस, सपा और बसपा ने योगी सरकार की कानून-व्यवस्था पर सवाल खड़े किए हैं। बसपा चीफ मायावती ने अपराधियों को किसी कीमत पर नहीं छोड़ने की मांग करते हुए कहा कि यूपी सरकार को खासकर कानून-व्यवस्था के मामले में और भी अधिक चुस्त व दुरुस्त होने की जरूरत है।

मायावती ने शुक्रवार को ट्वीट किया, ''कानपुर में शातिर अपराधियों द्वारा एक भिड़ंत में डिप्टी एसपी सहित 8 पुलिसकर्मियों की मौत व 7 अन्य के आज तड़के घायल होने की घटना अति-दुःखद, शर्मनाक व दुर्भाग्यपूर्ण। स्पष्ट है कि यूपी सरकार को खासकर कानून-व्यवस्था के मामले में और भी अधिक चुस्त व दुरुस्त होने की जरूरत है।''

अपने दूसरे ट्वीट में मायावती ने कहा, ''इस सनसनीखेज घटना के लिए अपराधियों को सरकार को किसी भी कीमत पर छोड़ना नहीं चाहिए, चाहे इसके लिए विशेष अभियान चलाने की जरूरत क्यों न पड़े। सरकार मृतक पुलिस के परिवार को समुचित अनुग्रह राशि के साथ ही परिवार के किसी सदस्य को नौकरी भी दे, बीएसपी की यह मांग है।'



Browse By Tags



Other News