जुलाई महीने से नई व्यवस्था के तहत होगा राशन वितरण: डी.एस.ओ.
| - Rainbow News Network - Jul 3 2020 4:50PM

राकेश कुमार, जिला पूर्ति अधिकारी

राशन वितरण में अनियमितता और हीलाहवाली नहीं होगी बर्दाश्त: राकेश कुमार

कोविड-19 का कहर, चल रहा कोरोना काल, देश में लागू लाकडाउन। उत्तर प्रदेश भी इससे अछूता नहीं। केन्द्र और प्रदेश की सरकारों द्वारा गरीबों, श्रमिकों, दिहाड़ी मजदूरों के साथ-साथ पात्र गृहस्थी और अन्त्योदय कार्ड धारक लाभार्थियों को भुखमरी का शिकार होने से बचाने के लिए बीते मार्च माह के अन्तिम दिनों से अद्यतन और आगामी महीनों हेतु निःशुल्क एवं पूर्व निर्धारित दर के अनुसार राशन वितरण सम्बन्धी योजनाएँ और उनके क्रियान्वयन के लिए जारी दिशा-निर्देश। जुलाई 2020 अनलॉक-02 में सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत उचित दर दुकानों से पात्र लाभार्थियों को कितना और किस तरह का राशन दिया जाना है, इसके बावत रेनबोन्यूज ने अम्बेडकरनगर जिले के पूर्ति अधिकारी से वार्ता कर जानकारी लिया। 

जिला पूर्ति अधिकारी राकेश कुमार ने बताया कि केन्द्र सरकार की प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना लागू है। अब प्रतिमाह दो चक्रों में पात्र लाभार्थियों में राशन वितरण किया जायेगा। पहला चक्र माह की 5 तारीख से 15 तारीख तक चलेगा और दूसरा चक्र 20 से 30 तक। यह व्यवस्था आगामी नवम्बर माह तक लागू रहेगी। डी.एस.ओ. कुमार ने बताया कि प्रथम चक्र में अन्त्योदय और पात्र गृहस्थी राशन कार्ड धारकों को पूर्व की भाँति 2 रूपए प्रति किलो की दर से गेहूँ और 3 रूपए प्रति किलो की दर से चावल दिया जायेगा। वहीं दूसरे चक्र में सभी कार्ड धारकों (अन्त्योदय, पात्र गृहस्थी, श्रम विभाग में पंजीकृत श्रमिकों, मनरेगा जॉब कार्ड धारकों) को 5 किलोग्राम प्रति यूनिट की दर से निःशुल्क चावल दिया जायेगा। 

जिला पूर्ति अधिकारी ने कहा कि जुलाई 2020 से खाद्यान्न वितरण की इस व्यवस्था के सम्बन्ध में शासन द्वारा निर्देश प्राप्त हुआ है। अपर आयुक्त खाद्य एवं रसद विभाग, उ0प्र0 जवाहर भवन, लखनऊ सुनील कुमार वर्मा द्वारा हस्ताक्षरित आदेश में इस व्यवस्था के तहत खाद्यान्न वितरण कराने को कहा गया है। जारी आदेश में कहा गया है कि 5 किलोग्राम प्रति यूनिट की दर से निःशुल्क चावल वितरण दोनों प्रकार के कार्ड धारकों के लिए होगा। इसका पर्याप्त प्रचार-प्रसार सुनिश्चित किया जाये, ताकि कोई भ्रम की स्थिति न रहे और उपभोक्ताओं को निःशुल्क खाद्यान्न की विधिवत जानकारी हो। इसके लिए उचित दर दुकानों पर भी अनिवार्य रूप से निःशुल्क चावल वितरण की सूचना का प्रदर्शन किया जाये। उचित दर की दुकानों पर अन्दर और बाहर उक्त सूचना का प्रदर्शन कम से कम तीन स्थानों पर कराया जाये, जिससे राशन वितरण में पारदर्शिता बनी रहे।   

जिला पूर्ति अधिकारी राकेश कुमार ने कहा कि शासन के आदेश का विभाग द्वारा अनुपालन कराया जा रहा है, सभी उचित दर विक्रेताओं को शासनादेश का हवाला देते हुए उन्हें कार्ड धारकों में किसी तरह की भ्रम की स्थिति उत्पन्न न हो इसके लिए व्यापक प्रचार-प्रसार कराये जाने का निर्देश दिया गया है। उन्होंने कहा कि जिले के समस्त उचित दर विक्रेता दोनों चक्रों के अनुसार निर्धारित दर और मात्रा में कार्ड धारकों में राशन का वितरण करें, इसमें किसी भी तरह की लापरवाही या हीला-हवाली कतई बर्दाश्त नहीं की जायेगी। 



Browse By Tags



Other News