जिस JCB के सहारे पुलिस टीम को घेरा, उसी से विकास दुबे का घर तहस-नहस
| Agency - Jul 4 2020 6:01PM

कानपुर में पुलिस टीम पर हमले के मास्टरमाइंड विकास दुबे की तलाश जारी है. इसी बीच पुलिस ने विकास दुबे के बिठुर स्थित आवास को गिरा दिया है. दिलचस्प यह है कि पुलिस ने यह कार्रवाई उसी जेसीबी के सहारे की है, जिसके जरिए पुलिस टीम को घेरा गया था. विकास दुबे के घर में मौजूद सभी चीजों को पुलिस ने जब्त कर लिया है. प्रशासन विकास दुबे की सारी पॉपर्टी अटैच करने की तैयारी कर रहा है.

प्रशासन उसकी सभी संपत्तियों की जांच करेगा. साथ ही सभी बैंक अकाउंट्स भी सीज किए जाएंगे. इधर विकास दुबे की तलाश में पुलिस की 20 टीमें अलग-अलग इलाकों में दबिश दे रही हैं. इन सभी इलाकों में विकास के परिवार वाले रहते हैं. नेपाल बॉर्डर पर भी अलर्ट जारी कर दिया गया है. विकास दुबे के फोटो चस्पा कर दिए गए हैं. पुलिस ने अब तक इस मामले में पूछताछ के लिए 12 लोगों को हिरासत में लिया है.

जिससे कि जल्द से जल्द विकास दुबे को पकड़ा जा सके. विकास दुबे के नेपाल भागने की भी आशंका है, लिहाजा लखीमपुर खीरी जिले की पुलिस भी अलर्ट पर है. इसके अलावा पुलिस ने मोबाइल कॉल डिटेल के आधार पर कई लोगों को हिरासत में लिया है, जिनसे पूछताछ जारी है. ये सभी वे लोग हैं जिन्होंने पिछले 24 घंटे में विकास दुबे से बात की थी.

इधर मामले में कानपुर पुलिस ने बड़ी कार्रवाई की है. पुलिस ने इस मामले में चौबेपुर के थानाध्यक्ष विनय तिवारी को सस्पेंड कर दिया है. विनय तिवारी चौबेपुर के थानाध्यक्ष हैं. इस जानकारी के आधार पर कार्रवाई करते हुए पुलिस ने विनय तिवारी को सस्पेंड कर दिया है. पुलिस को शक है कि विनय तिवारी ने ही गैंगस्टर विकास दुबे को उसके घर में रेड की सूचना दी है.

सूत्रों के मुताबिक विनय तिवारी से एसटीएफ ने पिछले शाम को पूछताछ की थी. जांच में पता चला है कि विनय तिवारी ने कुछ दिनों पहले विकास चौबे के खिलाफ शिकायत दर्ज करने से इनकार कर दिया था.पुलिस अब विनय तिवारी के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की तैयारी कर रही है. आजतक ने इस मामले में चौबेपुर के थानाध्यक्ष विनय तिवारी से बात करने की कोशिश की. लेकिन विनय तिवारी कुछ भी बोलने से इनकार करते रहे. विनय तिवारी ने कहा कि पूरे मामले की जानकारी वरिष्ठ अधिकारी द्वारा दी जाएगी.



Browse By Tags



Other News