घाघरा नदी का कहर, पानी से घिरे सैकड़ों परिवार
| -Satyam Singh - Aug 2 2020 6:34PM

अंबेडकर नगर (सत्यम सिंह) घाघरा नदी का जलस्तर निरंतर बढ़ता ही जा रहा है। लगातार 48 घंटे से घाघरा नदी लाल खतरे के निशान से धीरे-धीरे ऊपर ही हो रही है।  20 सेंटीमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से घाघरा नदी का पानी बढ़ने से अंबेडकरनगर जिले के माझा क्षेत्र में ग्रामीणों की परेशानी अब काफी बढ़ गई है। 

टांडा तहसीलदार संतोष ओझा ने बताया कि माझा उल्टावा क्षेत्र के 2 इलाकों में करीब 100 परिवार नदी के पानी से चारों तरफ घिर गए हैं। आबादी से सटे धान की खेती भी बुरी तरीके से प्रभावित हो गई है l धान के खेतों में नदी का पानी ही नहीं बह रहा है बल्कि उसमें नाव चलने लगी है l माजा उल्टावा के बाबूराम की पुरवा व दिलशेर पुरवा आबादी से पानी बिल्कुल सट चुका है।

 क्षेत्रीय लेखपाल को माझा क्षेत्र में ही कैंप करा दिया गया हैl वे बोले नदी का पानी यदि ऐसे ही बढ़ता रहा तो सुबह तक स्थित विकराल से भी भीषण हो जाएगीl ग्रामीणों को अलर्ट कर दिया गया है कि आबादी में पानी घुसते ही वे सरकारी नाव के सहारे से इस पार बाढ़ केंद्रों पर आ जाएं। उनके खाने पीने रहने की पूरी व्यवस्था प्रशासन द्वारा की जाएगी।

याद दिलाते चलें कि घाघरा नदी में लाल निशान 92.730 मी. पर है जबकि शनिवार को अपराह्न 1:00 बजे घाघरा नदी का जलस्तर बढ़कर 93.290 मी. तक पहुंच गया है। प्रति घंटे इसमें 20 सेंटीमीटर के इजाफे की उम्मीद ज्यादा बनी हुई हैl घाघरा नदी का पानी दो दिनों पहले जब बढ़ना शुरू हुआ तो अभी तक स्थिर नहीं हो सका है।



Browse By Tags



Other News