यौन उत्पीड़न मामले में महेश भट्ट, मौनी रॉय समेत 4 कलाकारों को NCW ने जारी किया नोटिस
| Agency - Aug 7 2020 3:11PM

राष्ट्रीय महिला आयोग ने महेश भट्ट, उर्वशी रौतैला, ईशा गुप्ता, मौनी रॉय, रणविजय सिंह और प्रिंस नरूला के खिलाफ एक ताजा नोटिस जारी किया है। मामला ऐसा है कि.. IMG Ventures नाम की एक कंपनी पर महिलाओं के साथ यौन उत्पीड़न और ब्लैकमेलिंग करने का आरोप लगा है और इन ने इस कंपनी का प्रचार किया है। सामाजिक कार्यकर्ता और परी फॉर इंडिया की संस्थापक, योगिता भायना ने आईएमजी वेंचर्स के प्रमोटर सनी वर्मा के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है।

सनी वर्मा के खिलाफ मॉडलिंग और प्रॉजेक्ट दिलाने के बहाने लड़कियों को ब्लैकमेल करने और यौन उत्पीड़न के आरोप में शिकायत दर्ज कराई गई थी। कई लड़कियां सनी और उनके साथियों द्वारा यौन व मानसिक हमले का शिकार हुई हैं। राष्ट्रीय महिला आयोग ने अपने ट्विट में लिखा, 'सभी संभव तरीकों के माध्यम से आयोग के सामने पेश होने के निर्देश के बावजूद, इन सभी लोगों ने ना तो प्रतिक्रिया देने की जहमत उठाई है और न ही निर्धारित बैठक में हिस्सा लिया है।'

साथ ही लिखा- 'एनसीडब्ल्यू ने उनकी गैर-उपस्थिति पर गंभीरता से ध्यान दिया है। बैठक अगली तारीख यानी 18 अगस्त को सुबह 11.30 बजे के लिए के लिए स्थगित कर दी गई है। आपको फिर से औपचारिक नोटिस भेजे जाएंगे और अनुपस्थित होने पर हमारी प्रक्रियाओं के अनुसार कार्रवाई की जाएगी।' इनके साथ अभिनेता सोनू सूद को भी तलब किया गया था, लेकिन वह सुनवाई के लिए उपस्थित हुए और उन्होंने अपना पक्ष रखाl

इसीलिए उनके खिलाफ ताजा नोटिस जारी नहीं किया गया। रिपोर्ट के अनुसार, सनी वर्मा की कंपनी 2,950 रुपये का शुल्क लेती थी, जिसके बाद लड़कियों को मॉडलिंग की दुनिया में प्रमोट करने के लिए अश्लील फोटो लाने के लिए कहती थी। शिकायत में यह भी कहा गया है कि लड़कियों के साथ यौन संबंध बनाने के बाद सनी वर्मा उन्हें ब्लैकमेल भी करता था।

वहीं इस पूरे मामले पर महेश भट्ट की टीम की ओर से आधिकारिक बयान में कहा गया है कि निर्देशक को राष्ट्रीय महिला आयोग की चेयरपर्सन रेखा शर्मा की ओर से कोई नोटिस मिला ही नहीं है। विशेष फिल्म्स के वकील नाइक ने बयान में कहा, 'हमारे क्लाइंट महेश भट्ट पर लगाए गए आरोप तथ्यों के सत्यापन के बिना लगाए गए हैं। हम उन सभी समाचार एजेंसियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई कर रहे हैं, जिन्होंने झूठे आरोप लगाए हैं और बदनाम करने वाले लेख लिखे हैं।'



Browse By Tags



Other News