1 नवम्बर से शुरू हो जायेगी धान की खरीद: अजित प्रताप सिंह
| - Rainbow News Network - Aug 10 2020 7:36PM

अजित प्रताप सिंह, जिला खाद्य विपणन अधिकारी

धान खरीद के लिए किसानों को कराना होगा आँनलाइन पंजीकरण

अम्बेडकरनगर। जिले के किसानों की सुविधा के लिए जिला खाद्य विपणन अधिकारी अजित प्रताप सिंह ने धान खरीद के पूर्व महत्वपूर्ण जानकारियाँ देते हुए बताया कि खरीफ उत्पादन यानि धान की खरीद 1 नवम्बर से प्रारम्भ हो जायेगी। इसके लिए किसानों को ऑनलाइन पंजीकरण कराना अनिवार्य होगा। उन्होने कहा कि जिन किसानों का पंजीकरण गेहूँ खरीद के समय हो चुका है, उन्हें पंजीकरण कराने की आवश्यकता नहीं है। कुछ संशोधन उपरान्त किसानों का वही पंजीकरण मान्य होगा।

डी.एफ.एम.ओ. अजित प्रताप सिंह ने विस्तार में जानकारी देते हुए बताया कि धान खरीद वर्ष 2020-21 में जनपद के किसानों को धान बेचने हेतु 01 नवम्बर, 2020 से प्रारम्भ होने वाली धान खरीद योजना के लिये ऑनलाइन पंजीकरण कराना अनिवार्य होगा। खाद्य एवं रसद विभाग के पोर्टल- एफईएस डाॅट यूपी डाॅट जीओवी डाॅट इन पर धान विक्रय हेतु पंजीकरण 15 जुलाई, 2020 से प्रारम्भ है।

धान की खरीद कृषकों से सीधे की जायेगी। किसी भी जनसुविधा केन्द्र, साइबर कैफे या स्वंय से पंजीकरण कर सकते है। किसान पंजीयन का राजस्व विभाग के भूलेख पोर्टल से लिंक कराया गया है। धान क्रय वर्ष 2020-21 में ओ०टी०पी० आधारित पंजीकरण की व्यवस्था की गयी है, जिसके लिए किसान पंजीकरण के समय अपना वर्तमान मोबाइल नम्बर ही अंकित करायें, जिससे एस०एम०एस० द्वारा प्रेषित ओ०टी०पी० को भरकर पंजीकरण प्रक्रिया पूर्ण की जा सकेगी।

जानकारी देते हुए डी.एफ.एम.ओ. ने बताया कि किसान अपनी खतौनी का खाता संख्या पंजीयन में दर्ज कर अपने कुल रकबे को एवं बोये गये धान के रकबे को अंकित करेंगे, जिसका सत्यापन सम्बन्धित तहसील द्वारा ऑनलाइन किया जायेगा। धान विक्रय के समय पंजीयन प्रपत्र के साथ खतौनी, आधार कार्ड एवं बैंक की पासबुक के प्रथम पृष्ठ की छायाप्रति अवश्य लायें। अपना बैंक खाता सी०बी०एस० युक्त ऐसी बैंक शाखा में खुलवायें जिसमें पी०एफ0एम0एस0 की सुविधा उपलब्ध हो तथा बैंक खाता व आई०एफ०एस०सी० कोड भरने में विशेष सावधानी रखें।

पी०एफ०एम०एस0 के माध्यम से त्वरित भुगतान सुनिश्चित करने के उददेश्य से कृषकों से अपील किया कि अपने संयुक्त बैंक खाते के स्थान पर एकल बैंक खाते को ही पंजीकरण में दर्ज करायें। इस वर्ष धान का समर्थन मूल्य 1868 रूपये प्रति कुन्तल निर्धारित किया गया है, जो कृषक रबी विपणन वर्ष 2020-21 में गेहूं खरीद हेतु पंजीकरण करा चुके है। उन्हें नवीन पंजीकरण कराने की आवश्यकता नहीं होगी, किन्तु उक्त पंजीकरण को संशोधन कर या बिना संशोधन के पुनः लाक कराना अनिवार्य होगा।



Browse By Tags



Other News