डीडी एग्रीकल्चर को नहीं है किसानों से कोई सरोकार
| - Rainbow News Network - Aug 13 2020 1:55PM

उप कृषि निदेशक आर.डी. बागला द्वारा योजनाओं को लगाया जा रहा है पलीता

रिपोर्ट- ज्ञान प्रकाश पाठक

अम्बेडकरनगर। किसानों के लिए संचालित की जा रही कुसुम योजना, आत्मा योजना, सिंचाई पंप योजना व कृषि यंत्रों की वितरण योजना जिले में फ्लाप साबित हो रही है। इन योजनाओं के बारे में उप कृषि निदेशक रामदत्त बागला से जानकारी हासिल करना बेमानी साबित होता है। क्योंकि वह विभाग व विभागीय योजनाओं से सम्बन्धित कोई भी जानकारी देने से परहेज करते हैं। प्राकृतिक आपदा से फसलों में होने वाले नुकसान की भरपाई करने के लिए प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना से किसानों का मोह भंग हो रहा है।

नुकसान होने के बावजूद बीमा कंपनी द्वारा मुआवजा न दिए जाने की वजह से इस योजना के प्रति किसानों का रुझान कम होता जा रहा है। किसान लगातार चक्कर लगाते रहते हैं, पर उन्हें मुआवजा नहीं मिलता। इसलिए काफी किसान ऐसे हैं जिन्होंने एक बार के बाद फिर बीमा नहीं कराया।

सूत्रों द्वारा पता चला कि कुछ ऐसे भी किसान हैं जो तीन साल से बीमा कंपनी के खिलाफ अदालत में केस लड़ रहे हैं। केंद्र सरकार की महत्वाकांक्षी किसान सम्मान योजना को सरकार के हुक्मरान ही पलीता लगा रहे हैं। जबकि गांव में कई ऐसे किसानों के खाते में रकम पहुंच गई, जो पूरी तरह से भूमिहीन हैं।

आधार कार्ड और एकाउंट नंबर लिंक करने में विभागीय गड़बड़ झाला उजागर हुआ है। सरकार के आनन फानन में योजना को अमलीजामा पहनाने के आदेश से विभागीय अधिकारियों के हाथपांव फूल गए। जिस वजह से अपात्रों को भी सूची में शामिल कर लिया गया। किसानों को बार-बार विभाग का चक्कर किसान सम्मान निधि के लिए लगाना पड़ा रहा है विभाग की उदासीनता के शिकार हो रहे हैं किसान।



Browse By Tags



Other News