बाढ़ के पानी में नाचते हुए दुल्हन को लेने पहुंची बारात
| Agency - Aug 14 2020 1:27PM

साल 2020 में देश को कोरोना महामारी के साथ-साथ कई प्रकृतिक आपदाओं का भी सामना करना पड़ रहा है। मानसून के चलते बिहार और उसके आस-पास के राज्यों को भीषण बाढ़ का सामना करना पड़ रहा है, लेकिन अब लगता है कि इन राज्यों के लोगों ने बाढ़ के साथ जीना सीख लिया है। बिहार के लोग ऐसे चुनौती भरे समय में भी खुशियां मनाने की भी कला बखूबी जानते हैं। इसका एक ताजा उदाहरण हाल ही में सामने आया है।

बाढ़ के पानी को पारकर दूल्हा पहुंचा दुल्हन के घर

दरअसल, कोरोना काल में भी लोग कहीं डिजिटल तो कहीं गाइडलाइन का पालन करते हुए शादी कर रहे हैं। बिहार के मुजफ्फरपुर में एक दूल्हे के सामने कोरोना के अलावा बाढ़ भी उसकी शादी में बड़ा रोड़ बन रही थी। ऐसे में उसने अपनी दुल्हन को लाने की बेताबी में बाढ़ की भी परवाह नहीं की। दूल्हा बाढ़ के पानी को पारकर गाजे-बाजे और बराती संग ब्याह रचाने पहुंच गया। इस अनोखी शादी को देखने के लिए पूरा गांव इकट्ठा हो गया।

बाढ़ भी नहीं रोक सकी शादी

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक बारात समस्तीपुर के ताजपुर थाने के मुसापुर गांव से मुजफ्फरपुर के सकरा के भटण्डी गांव पहुंची थी। लॉकडाउन से पहले ही मुसापुर के मोहम्मद इकबाल के पुत्र मोहम्मद हसन रजा का निकाह सकरा भटण्डी गांव में रहने वाली मजदा खातून के साथ तय किया गया था। हालांकि कोरोना वायरस के चलते अभी तक शादी को टाल दिया गया था। इसी बीच जब लॉकडाउन में थोड़ी ढील मिली तो नहर का तटबंध टूटने से दुल्हन का गांव बाढ़ में घिर गया।

बाढ़ को देखते हुए दोनों पक्षों की ओर से निकाह की तारीख को बदलने पर विचार-विमर्श किया गया लेकिन बात नहीं बनीं। दूल्हे ने निकाह के लिय तय तारीख पर ही बारात ले जाने की जिद पकड़ ली। पानी से घिरे गांव में भी बारातियों ने जमकर डांस किया तो शादी कर दुल्हन को भी दूल्हा अपने साथ ले गया। इस शादी का एक वीडियो भी सामने आया है जो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है।

उधर, बाढ़ की वजह से लड़की के गांव में शादी की तैयारी में टेंट के लिए सामान कई बार लाए और लौटाए गए। बारात आने से ठीक पहले गांव के लोगों ने रास्ते का मुआयना किया, फिर लड़के वालों को दुल्हन के घर जाने में आ रही दिक्कतों से अवगत कराया। इतने पर भी लड़के ने हार नहीं मानी और सभी को उसकी जिद के आगे झुकना पड़ा। दूल्हे ने पहले गाड़ी भटण्डी गांव की सीमा तक गाड़ी में सफर किया उसके बाद नाव में बैठकर दुल्हन के घर तक पहुंचा।



Browse By Tags



Other News