भाजपा जिलाध्यक्ष ने दी ठेकेदार को दौड़ाकर पीटने की धमकी
| - Rainbow News Network - Sep 12 2020 4:33PM

अम्बेडकरनगर जिले की राजनैतिक पार्टियों की इकाई के अध्यक्षों के बारे में जहाँ तक जानकारी है अब तक का सबसे विवादित अध्यक्ष भारतीय जनता पार्टी जैसी रूलिंग पार्टी का ही रहा है। आये दिन भाजपा जिलाध्यक्ष कपिल देव वर्मा अपनी असामान्य कार्यशैली से चर्चा में रहते हैं। कहा जाता है कि बीजेपी के जिलाध्यक्ष अपने को सी.एम. उत्तर प्रदेश से कम नहीं समझते हैं। बात-बात में पार्टी के समर्पित कार्यकर्ताओं से अभद्रता करना इनकी आदत में शुमार है। इन्हें सवर्ण विरोधी कहा जाने लगा है। 

पूर्व में मिली खबरों के अनुसार बीजेपी जिलाध्यक्ष ने कई सवर्ण जातियों के पुराने व कर्मठ कार्यकर्ताओं, पदाधिकारियों के साथ तानाशाही रवैय्या अपनाकर अभद्रता किया है। इनके व्यवहार से भाजपा जिला इकाई का क्या होगा.....इसे राम जानें....ऐसा लोग मानने लगे हैं। कपिल देव वर्मा भाजपा जिलाध्यक्ष के बारे में कहा जाता है कि इनकी असामान्य गतिविधि और तानाशाही रवैय्ये से लोग हतप्रभ हैं। जिले के प्रशासनिक अमले का संचालन इनके द्वारा किये जाने की बात कही जाती है। जिले में होने वाले विकास कार्यों में अनापेक्षित ढंग से इनके द्वारा किया जाने वाला जबरिया हस्तक्षेप अत्यन्त शोचनीय बना हुआ है।

आये दिन इनके द्वारा किये गये कृत्यों से भाजपा के अन्य वरिष्ठ जन अवाक् एवं किंकर्तव्यविमूढ़ से हो जाते हैं। कपिल देव वर्मा पर आरोप लगता है कि भाजपा की जिला इकाई को इन्होंने अपनी बपौती समझ लिया है। यही कारण है कि मनमाना ढंग से जिला इकाई का संचालन कर रहे हैं। कई वरिष्ठों को पार्टी से निकालने की संस्तुति इनके द्वारा की जा चुकी है, जिसके बावत सम्बन्धितों ने कहा है कि यह इनकी अदूरदर्शिता का प्रमाण है। जो इनके अधिकार क्षेत्र में नहीं होता, उससे सम्बन्धित खबरें इनको मीडिया मे नहीं देनी चाहिए।

सुपुष्ट सूत्रों के अनुसार अब बीजेपी जिला इकाई में प्रमुख पदों पर इनके येस मैन ही विराजमान हैं, जिनमें जरा भी स्वाभिमान है उसने बीजेपी की जिला इकाई से किनारा कस लिया है। इनके कृत्यों को देखकर अब लोग कहने लगे हैं कि यह पार्टी के लिए घातक हैं। ये ठीक उसी तरह कर रहे हैं जैसे कहा जाता है कि- हम तो डूबेंगे सनम, तुमको भी ले डूबेंगे.....।

इनकी असामान्य हरकतों का एक ताजा उदाहरण यहाँ प्रस्तुत है:-

अम्बेडकरनगर। तमाम विवादों में घिरते आ रहे भाजपा जिलाध्यक्ष कपिलदेव वर्मा द्वारा ग्राम पंचायतों में वाईफाई लगाने वाली निजी संस्था के कर्मचारी को धमकी देने का ऑडियो वायरल हुआ है। इसमें सूची दिखाए बगैर कहीं वाईफाई न लगाने की चेतावनी देते हुए दौड़ा-दौड़ाकर पीटने की धमकी दी जा रही है। कई तरह के अपशब्दों का प्रयोग करते हुए सत्तारूढ़ दल की धौंस भी ठेकेदार को दी गई। पीड़ित ने पूरे घटनाक्रम से अवगत कराने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र भेजकर कार्रवाई की मांग की है।

सरकारी अधिकारियों व कर्मचारियों समेत पार्टी कार्यकर्ताओं से अक्सर अभद्रता करने के आरोपों से घिरे भाजपा जिलाध्यक्ष कपिलदेव वर्मा एक नये विवाद में फंस गए हैं। ताजा मामला मिशन डिजिटल इंडिया के तहत ई-गर्वनेंस सर्विसेज इंडिया लिमिटेड से जुड़ा है। संस्था द्वारा शासन के निर्देश पर प्रधानमंत्री के ड्रीम प्रोजेक्ट के तहत ग्राम पंचायतों में वाईफाई लगवाई जा रही है। मुख्य मशीन सीएससी सेंटर पर लग रही, जबकि इससे वाईफाई का लाभ देने के लिए पंचायत भवन, आंगनबाड़ी, प्राथमिक विद्यालय व राशन की दुकान को शामिल किया गया है। जिले के अलग अलग क्षेत्रों में यह कार्य चल रहे हैं।

इस बीच टांडा ब्लाक में वाईफाई लगाने का कार्य कर रहे ठेकेदार को भाजपा जिलाध्यक्ष कपिलदेव वर्मा द्वारा सत्ता के नशे में चूर होकर धमकी देने का ऑडियो वायरल हुआ है। ऑडियो में जिलाध्यक्ष ने ठेकेदार को धमकी देते हुए कहा कि बगैर सूची दिखाए कहीं भी वाईफाई नहीं लगना चाहिए। ठेकेदार ने कहा कि इसके लिए स्थान ऊपर से ही निर्धारित है। इतना सुनते ही जिलाध्यक्ष ने अपशब्दों का प्रयोग शुरू कर दिया। धमकी देते हुए कहा कि तत्काल प्रभाव से काम रोक दो वरना मैं दौड़ा दौड़ाकर मारूंगा। जिलाध्यक्ष ने ठेकेदार को दो घंटे में मिलने के लिए आने की चेतावनी भी दी। जिलाध्यक्ष से नियमों की गुहार देकर ठेकेदार गिड़गिड़ाता रहा, लेकिन उन पर कोई असर नहीं हुआ। वे गाली गलौज पर लगातार अमादा रहे।

पूरे मामले में ठेकेदार ने मुख्यमंत्री को पत्र भेजक कार्रवाई की मांग की है। पत्र में जिलाध्यक्ष द्वारा बीते दिनों धमकी दिए जाने का उल्लेख करते हुए कहा गया कि बसावनपुर गांव में एक व्यक्ति के घर निजी खर्च पर वाईफाई लगाई गई है। उसे उखाडने के लिए पहले जिलाध्यक्ष के करीबी ग्राम प्रधान चन्द्रशेखर वर्मा ने धमकी दी उसके बाद जिलाध्यक्ष ने भी धमकाया। पत्र में कहा गया कि कठोरतम कार्रवाई सुनिश्चित कराई जाए। उधर, जिलाध्यक्ष कपिलदेव ने कहा कि मनमाने ढंग से वाईफाई लगाए जाने की शिकायत मिली थी। इसीलिए फोन कर कहा गया कि नियमानुसार जो सूची है उसी के अनुरूप वाईफाई लगाई जाए। सामान्य सी बात को अनावश्यक तूल दिया जा रहा है।



Browse By Tags



Other News