दिन या रात, आखिर क्या है दही खाने का सही समय?
| Agency - Oct 5 2020 12:38PM

भारत में दही को खाने के साथ या अलग से लेना लोग काफी पसंद करते हैं। दही आयुर्वेद के अनुसार स्वास्थ्य के लिए काफी अच्छा है। इसमें कैल्शियम के अलावा प्रोटीन और  कई तरह के विटामिन भी मौजूद हैं। दही  इंसान के शरीर की पाचन क्रिया को भी कंट्रोल करता है। इससे लोगों की इम्युनिटी, वेट लॉस और हड्डियां मजबूत होती है। लेकिन दही को लेकर इंसान के अंदर कई तरह की भ्रांतियां भी हैं।

कुछ बातें तो कोरी अफवाह हैं लेकिन कुछ ऐसी बातें हैं जो अगर इंसान नजरअंदाज करे तो उसकी सेहत पर इसका बुरा असर पड़ता है। इसमे से सबसे अहम है दही खाने का समय। आखिर दही को कब खाना सबसे सही रहता है और कब खाने पर सबसे ज्यादा नुकसान होता है? आज हम इस सवाल का जवाब आपको बताने जा रहे हैं। 

भारत में दही को अच्छे लक का संकेत माना जाता है। गुड लक के लिए लोग काम शुरू करने से पहले दही खाते हैं। दही-चीनी हर काम को बना देता है, ऐसा माना जाता है। दही को लोग नमक के साथ भी खाना पसंद करते हैं। नमक के साथ अगर उसमें भूना जीरा मिला दें तो ये छाछ बन जाता है। दही पेट के लिए काफी अच्छा होता है। इसमें मौजूद लैक्टिक एसिड पेट में अच्छे बैक्टेरिया  बनाता है।

इससे इंसान की बॉडी सही से फंक्शन करती है। लेकिन अगर इसी दही को गलत समय पर खाया जाए तो गुणकारी से ये जहर बन जाता है। इसके बाद ये आपके सेहत के लिए खतरनाक हो जाता है। आयुर्वेद के अनुसार रात में दही कभी नहीं खाना चाहिए। इसके पीछे कारण है। दरअसल, दही की तासीर ठंडी होती है। ऐसे में अगर रात को खाया जाए, तो ये नुकसान पहुंचाता है। 

रात को दही खाने से बॉडी में म्यूकस बन जाता है। इससे इन्फेक्शन, बलगम की समस्या, मोटापा और स्किन डिजीज का भी सामना करना पड़ जाता है। अब हम आपको बताते हैं दही खाने का सही समय। आपको दही दोपहर के तीन बजे से पहले खाना चाहिए।

इस टाइम के बाद खाया गया दही फायदे की जगह नुकसान पहुंचाता है। सुबह से दोपहर तीन बजे तक आपको दही खा लेना चाहिए। इसके साथ ही कोशिश करें कि दही में शक्कर, शहद जरूर मिलाएं। अकेले दही खाना भी खतरनाक साबित होता है। 



Browse By Tags



Other News