सिलबट्टे और खलबत्ता बेचने वाली बनीं इंस्पेक्टर
| Agency - Oct 23 2020 4:31PM

स्वाभिमान से दो जून की रोटी कमाने और अपने बच्चों का स्वाभिमान से लालन पालन करने की जिद ने एक दिन पद्मशीला तिरपुडे को सिलबट्टे और खलबट्टे बेचते बेचते मध्यप्रदश पुलिस में उप निरीक्षक के पद तक पहुंचा दिया।

सुश्री पद्मशीला भंडारा जिले की पहेला गाँव की रहने वाली है। उसने अपनी जिद के बल पर न केवल अपेक्षित शिक्षा अर्जित की अपितु मध्यप्रदेश सिविल सेवा की उप निरीक्षक की आयोजित परीक्षा में बाजी भी मारी। नीचे दिए गए जुड़वाँ चित्र खुद उसका संघर्ष बयां करते हैं और उपलब्धि भी दर्शाते हैं।

आशा है, सुश्री पद्मशीला का यह संघर्ष और उपलब्धि सुखवाड़ा के पाठकों को जीवन में कुछ करके दिखाने की ज़िद करने का जोश और जूनून उत्पन्न करने में सफल साबित होगी। ज़िद के बल पर जीवन की जंग जीतने वाली पद्मशीला को सुखवाड़ा, सतपुड़ा संस्कृति संस्थान, भोपाल नमन करता हैं व उसके उज्ज्वल भविष्य की कामना करता है।



Browse By Tags



Other News