मास्क चेकिंग के नाम पर सम्मनपुर पुलिस द्वारा की जा रही धनउगाही...?
| -RN. News Desk - Nov 25 2020 4:56PM

अम्बेडकरनगर। इस समय कोविड-19 से बचाव के लिए जारी सरकार की नई गाइडलाइन पुलिस डिपार्टमेन्ट के लिए काफी मुफीद साबित हो रही है। मास्क चेकिंग के नाम पर जिले के सभी थाना क्षेत्रों के कथित तेज-तर्रार और स्वहितार्थ धन कमाने के लिए चर्चित मुलाज़िमों द्वारा जुर्माने के साथ ही अवैध वसूली की जा रही है। 

इस चेकिंग अभियान में संलिप्त उपनिरीक्षकों एवं अन्य पुलिस कर्मियों द्वारा कोरोना महामारी को काफी बढ़ा-चढ़ाकर परिभाषित किया जाता है। अपने संक्षिप्त भाषण में इन लोगों द्वारा यह कहा जाता है कि मास्क ही कोविड-19 से बचाव का सर्वोत्तम साधन है। गाँव देहात एवं शहरी क्षेत्रों के तिराहे व सड़कों पर चेकिंग कर रहा ये दल कोरोना वायरस के बारे में प्रदेश की सरकार के नये नियमों का हवाला देते हैं।

कहते हैं कि मास्क न लगाने वालों पर सरकार ने जुर्माने की राशि बढ़ा दी है। जो पहले 100 था वह अब 500 हो गया है। बेहतर यह है कि जुर्माना भरो और गन्तव्य को जाओ। बीते दिवस जिले के थाना सम्मनपुर क्षेत्र अन्तर्गत सैदापुर बाजार तिराहे पर मास्क चेकिंग अभियान चलाने वाले हड़कम्पी पुलिस दल द्वारा अवैध वसूली किये जाने की शिकायतें मिली।

लोगों के अनुसार मास्क चेकिंग अभियान दल का नेतृत्व कर रहे उपनिरीक्षक और साथ रहे अन्य पुलिस जवानों ने कोविड-19 से बचाव के लिए मास्क की जरूरत क्यों इसके बावत कुछ भी न कहकर बस इतना कह रहे थे कि सरकार का नया नियम आ गया है, उसी के अनुपालन में चेकिंग महा अभियान चलाया जा रहा है और बढ़े हुई जुर्माने की वसूली की जा रही है।

कई जागरूक एवं पढ़े-लिखे लोगों ने बताया कि सैदापुर तिराहे पर चेकिंग कर रहे अभियान दल द्वारा बगैर मास्क वालों से जुर्माना वसूली की कोई रसीद भी नहीं दी जा रही थी। इस सम्बन्ध में एस.एच.ओ. सम्मनपुर के सी.यू.जी. नम्बर पर कॉल करके जानकारी लेने का प्रयास किया गया तो सम्पर्क सम्भव नहीं हो सका। कमोवेश यही हाल सी.ओ. सदर एवं अन्य पुलिस अधिकारियों के सी.यू.जी. नम्बर्स का भी रहा। 



Browse By Tags



Other News