तीसरी लहर से निपटने के लिए 40 बेड सुरक्षित
| -RN. News Desk - Jul 16 2021 5:45PM

अम्बेडकरनगर। कोरोना संक्रमण की संभावित तीसरी लहर को देखते हुए शासन के निर्देश पर स्वास्थ्य विभाग ने तैयारियां तेज कर दी हैं। शासन के निर्देश पर सीएचसी टांडा, भीटी, जलालपुर व भियांव में 10-10 बेड सुरक्षित रखते हुए विशेष वार्ड को तैयार किए जाने की प्रक्रिया तेज कर दी गई है। सभी बेड कंसंट्रेट ऑक्सीजन से लैस रहेंगे। इस बीच गुरुवार को सीएमओ डॉ. श्रीकांत शर्मा ने राजकीय मेडिकल कॉलेज सद्दरपुर, जिला अस्पताल व मातृ शिशु विंग टांडा स्थित कोविड अस्पताल का निरीक्षण किया। साथ ही जिम्मेदारों को सभी जरूरी तैयारियां समय रहते पूरी कर लिए जाने का निर्देश दिया।

कोरोना की दूसरी लहर से तो जिले को काफी राहत है, लेकिन संक्रमण की संभावित तीसरी लहर ने स्वास्थ्य विभाग को सचेत कर दिया है। संभावित तीसरी लहर को देखते हुए शासन के निर्देश पर स्वास्थ्य विभाग ने तैयारियां तेज कर दी हैं। कोरोना की संभावित तीसरी लहर में बच्चों के अधिक प्रभावित होने की संभावना व्यक्त की जा रही है।

इसे देखते हुए नए अस्पताल को तैयार किया जा रहा है। इसे लेकर शासन की ओर से जारी दिशा निर्देश के अनुसार जिले में चार सीएचसी टांडा, भीटी, जलालपुर व भियांव में 10-10 बेड सुरक्षित किए गए हैं। यह सभी बेड ऑक्सीजन से लैस होंगे। कोरोना संक्रमण की पहली व दूसरी लहर में जिले में तीन कोविड अस्पताल बनाए गए थे। इसमें जिला अस्पताल 30, राजकीय मेडिकल कॉलेज सद्दरपुर 300 व मातृ शिशु विंग में 265 बेड के कोविड अस्पताल स्थापित थे।

अब जबकि तीसरी लहर की संभावना आगामी दिनों में व्यक्त की जा रही है, तो इसे देखते हुए इससे निपटने के लिए प्रशासन ने तैयारियां तेज कर दी हैं। बच्चों को समय रहते समुचित इलाज सुनिश्चित हो सके और ऑक्सीजन की किसी भी प्रकार से कमी न रहे, इसके लिए कंसंट्रेट ऑक्सीजन युक्त सभी बेड रहेंगे।

जिले में पूर्व से ही स्थापित कोविड अस्पताल राजकीय मेडिकल कॉलेज सद्दरपुर, जिला अस्पताल व मातृ शिशु विंग टांडा का सीएमओ डॉ. श्रीकांत शर्मा ने गुरुवार को स्वास्थ्य विभाग की टीम के साथ जायजा लिया। इस दौरान ऑक्सीजन प्लांट का मुख्य रूप से निरीक्षण किया। उन्होंने जिम्मेदारों को निर्देशित करते हुए कहा कि समय रहते सभी जरूरी तैयारियां पूरी कर ली जाएं। सभी व्यवस्थाओं को सुचारु किया जाए। इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरती जाए। यदि किसी भी प्रकार की शिकायत सामने आई, तो जांच के बाद दोषी पाए जाने पर संबंधित के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी।



Browse By Tags



Other News