आगरा: पुलिस की नौकरी से दिया इस्तीफा, अब प्रियंका मिश्रा ने विभाग में जमा कराए डेढ़ लाख रुपये और किट
| -Satyam Singh - Sep 16 2021 4:32AM

सोशल मीडिया पर ट्रोल होने पर सिपाही की नौकरी से इस्तीफा देने वाली प्रियंका मिश्रा ने पुलिस विभाग में 1.52 लाख रुपये जमा करा दिए हैं। उन्हें एसएसपी मुनिराज जी ने प्रशिक्षण और अन्य देय के रूप में खर्च रकम को जमा कराने के लिए नोटिस जारी किया था। उन्होंने रकम के साथ अपनी किट और परिचय पत्र भी जमा कर दिया है। कानपुर की रहने वाली प्रियंका मिश्रा थाना एमएम गेट में तैनात थीं, उनका एक वीडियो 24 अगस्त को सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। इसमें वह बैकग्राउंड म्यूजिक पर रिवाल्वर के साथ नजर आ रही थीं। मामला अधिकारियों तक पहुंचने के बाद सिपाही को लाइन हाजिर किया गया था।

सोशल मीडिया पर सिपाही के बारे में कमेंट आने लगे, इससे आहत होकर उन्होंने अपना इस्तीफा एसएसपी मुनिराज जी को सौंप दिया था। रविवार को एसएसपी ने इस्तीफा स्वीकार कर लिया था। बाद में उन्हें विभाग में प्रशिक्षण लेने में खर्च 1.52 लाख रुपये और अन्य देय के रूप में 28 हजार रुपये जमा करने का नोटिस दिया था

इस पर प्रियंका मिश्रा ने विभाग में डेढ़ लाख रुपए और किट जमा कर दी। अन्य देय का 28 हजार रुपया अभी जमा नहीं किया है। अब वे मॉडलिंग करना चाहती हैं इसके साथ ही सिविल परीक्षा की तैयारी की भी सोच रही हैं।

कानपुर की रहने वाली प्रियंका मिश्रा दस अक्तूबर 2020 को पुलिस विभाग में सिपाही बनी थीं। बता दें, कि प्रियंका ने 225 दिन तक प्रशिक्षण लिया था। प्रतिदिन 676 रुपये प्रशिक्षण पर खर्च हुए थे। इस तरह से प्रतिमाह का खर्च 20280 रुपये है। इस हिसाब से ही धनराशि जमा करनी थी।

पुलिस विभाग के मुताबिक, ऐच्छिक सेवानिवृत्त पेंशन नियमावली के अनुसार जब सरकारी कर्मचारी की आयु 45 वर्ष या सेवा अवधि 20 साल होती है तो तीन महीने पहले ऐच्छिक सेवानिवृत्ति के लिए प्रार्थनापत्र दिया जा सकता है। मगर, महिला सिपाही प्रियंका मिश्रा की नियुक्ति 10 अक्तूबर 2020 को हुई थी और आयु भी कम है। इस कारण महिला सिपाही सेवानिवृत्त एवं अनिवार्य सेवानिवृत्त की परिधि में नहीं आती हैं। इस पर उनका इस्तीफा मंजूर किया गया। 



Browse By Tags



Other News