पूर्ति निरीक्षक कार्यालय भीटी मे भ्रष्टाचार चरम पर
| - Rainbow News Network - Nov 15 2021 4:38AM

राशन कार्ड में नाम जोड़ने के लिए पात्रों से लिए जाते हैं 2 हजार

सवर्ण जाति का तिकड़मी बाबू के इसारे पर हो रहा है सारा खेल

अम्बेडकरनगर। भीटी तहसील परिसर स्थित पूर्ति निरीक्षक कार्यालय मे भ्रष्टाचार का बोलबाला व्याप्त है। बताया गया है कि तहसील क्षेत्र के तमाम गांवो में राशन कार्ड धारकों में इस बात को लेकर असन्तोष व्याप्त है कि कार्ड संशोधन कराने में प्रति यूनिट 2 हजार रुपये विभागीय कर्मचारियों द्वारा सुविधा शुल्क लिया जाता है। मिली जानकारी के अनुसार ग्रामीण क्षेत्रो के लोगो का नाम काटकर वंचित कर दिया जाता है और फिर उसे दोबारा जोड़ने के लिए 2 हजार रुपये प्रति यूनिट लिया जाता है। पूर्ति निरीक्षक कार्यालय भीटी में इस तरह का भ्रष्टाचार अपनी चरम पर हैै। आरोप है कि बगैर पैसा दिये यहां कोई भी सुनवाई व कार्यवाई नही होती है। सूत्रो के अनुसार इस तरह के भ्रष्टाचार का खेल एक धाकड़, दबंग व सवर्ण जाति के एक बाबू के कहने पर खेला जा रहा है। यह सहायक विभाग के अधिकारियो का चहेता और सत्तापक्षीय व माननीयो का खासमखास बताया जाता है। इस बाबू ने तहसील स्थित पूर्ति निरीक्षक कार्यालय में कार्यरत मुलाजिमों के दो गुट बना दिया है।

इस तरह वह दोनो गुटो से भिन्न भिन्न तरह की बाते करके उनसे लाभ कमाता है। इस बाबू के सह पर दोनो गुटो द्वारा सभी कार्यदिवसो पर राशन कार्ड धारको के सदस्यों का नाम काटा और जोड़ा जाता है।ं इस तरह का भ्रष्टाचार इस कार्यालय में चरम पर है। जो  लोग पूर्ति कर्मचारियो के मांगने पर पैसा नही दे पाते हैं वह लोग अनाथों की तरह इधर उधर घूमते रहते हैं। अनेक गांव के वाशिन्दो के अनुसार पूर्ति निरीक्षक कार्यालय में व्याप्त भ्रष्टाचार की वजह से कार्ड धारको की परेशानियां इतनी बढ़ गई है कि राशन मिल पाना मुश्किल हैै। परेशान पा़त्र व्यक्ति कोटेदार व पूर्ति निरीक्षक कार्यालय का दौड़ लगाता ही रहता है। दौड़ते दौड़ते थक जाता है। बगैर सुविधा शुल्क के उसका नाम नही जोड़ा जाता है। पूर्ति निरीक्षक कार्यालय भीटी मे दो संविदा पर दो कम्प्यूटर ऑपरेटर रखे गये है। इन पर भी सुस्त व लापरवाही से कार्य करने का आरोप लगाया जाता है।

यहां तैनात पूर्ति निरीक्षक महिला है और निकटवर्ती सुल्तानपुर के सीमावर्ती के एक गांव की निवासी है। यह अपने कार्यालय में कभी कभार ही आती है। इनसे मिलना दुर्लभ है। इन सबके अलावा पूर्ति निरीक्षक कार्यालय के धाकड़, दबंग व सवर्ण मुलाजिम सारा कार्य देखता है। कोटेदारो, कार्ड धारको एवं अन्य विभागीय कर्मचारियो को अपनी धौंश में रखता है। भीटी क्षेत्र के महमदपुर गांव निवास/प्रधान ने आरोप लगाया है कि पूर्ति निरीक्षक कार्यालय भीटी में भ्रष्टाचार के कारण किसी की सुनवाई नही होती है।

इसी तरह ग्राम पंचायत चन्दापुर के  कई लोगों ने बताया कि उनके परिवार के कई सदस्यों के राशन कार्ड से नाम काटकर राशन पानी से वंचित कर दिया गया है। अब उन लोगो का नाम जोड़वाने के लिए 2 हजार रुपये प्रति यूनिट देना पड़ेगा। इन सबसे परेशान होकर गांववासी व क्षेत्रवासियों ने जिलाधिकारी का ध्यान आकृष्ट कराते हुए कहा है कि यदि इस समस्याओं पर कार्यवाही नही की गई तो धरना देने को मजबूर होंगे।

(Posted by- Kapil Dev Vishwakarma, Mob.- 9519364890)



Browse By Tags



Other News