शिवा हत्याकाण्ड का पर्दाफाश, पुलिस ने चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर भेजा जेल
| - Rainbow News Network - Nov 15 2021 5:59AM

अम्बेडकरनगर। 11 नवंबर से लापता व्यवसायी पुत्र का शव रविवार को बोरे में बंद तमसा नदी से बरामद हुआ। शव मिलते ही परिजनों में कोहराम मच गया। आक्रोशित परिजनों ने शव को सड़क पर रखकर प्रदर्शन शुरू कर दिया। मौके पर पहुंचे डीएम व एसपी ने परिजनों को समझा बुझाकर दोषियों के विरुद्ध कार्यवाही का अश्वासन देकर प्रर्दशन समाप्त करवाया। पुलिस ने मामले में चार लोगों के खिलाफ हत्या का केस दर्जकर सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। मामला अकबपुर कोतवाली क्षेत्र के शहजादपुर लोहामंडी का है। जहां पर व्यवसायी पुत्र शिवा कसौधन 11 नवंबर की देर रात अपने दोस्तों के साथ नगर के एक होटल में गया था। सुबह तक जब शिवा घर नहीं पहुंचा तो परिजनों ने खोजबीन शुरू की लेकिन शिवा का कहीं भी पता नही चला। परिजनों अकबरपुर कोतवाली में एक नामजद तहरीर दी पुलिस ने गुमशुदगी दर्जकर मामले की जांच में जुट गई लेकिन शिवा को खोजने में असफल रही। इसी बीच 14 नवम्बर को जिला मुख्यालय पर स्थित तमसा नदी किनारे एक बोरा दिखा। 

मौके से पहुंचे परिजनों ने जब बोरे को खोला तो परिजनों के होश उड़ गए। बंद बोरे में कोई और नही बल्कि व्यवसायीपुत्र शिवा कसौधन की लाश थी। शिवा के चेहरे और शरीर पर कई जगह धारदार हथियार के निशान थे शिवा की बड़ी ही बेरहमी से हत्या की गई थी। परिजनों के साथ आक्रोशित भीड़ ने शहजादपुर में शव को सड़क पर रखकर जाम लगा दिया। मौके से पहुंची पुलिस ने समझा बुझाकर शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। लेकिन परिजनों और व्यपारियों का आक्रोश कम नही हुआ। भीड़ ने अकबरपुर पुरानी तहसील तिराहे पर पहुंचकर शहर के सभी रास्तों को बंद कर जाम लगा दिया। जिससे आजमगढ़ए अयोध्याए जौनपुर समेत अन्य मार्गो पर आवागन बन्द हो गया। मौके से भारी पुलिस बल को तैनात कर दिया गया। परिजन मामले में कड़ी कार्यवाही की जिदपर अड़े रहे है और पुलिस पर भी लापरवाही का आरोप लगाया और अकबरपुर कोतवाल व शहजादपुर चौकी इंचार्ज को हटाने की मांग करने लगे। 

परिजनों के मुताबिक मृतक ने अपने दोस्तों को कर्ज के तौर पर मोटी रकमदे रखी थी। हत्या की वजह पैसा ही माना जा रहा है। इसलेनदेन मे एक सिपाही का नाम भी सामने आया है। काफी देर तक तहसील तिराहे पर लोग जमे रहे। काफी देर बाद मौके पर पहुंचे डीएम एसपी ने परिजनों को कार्यवाही का भरोसा दिलाकर प्रर्दशन को समाप्त कराया। इस दौरान परिजनों ने मांग पत्र भी सौंपाए जिसमें पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए कोतवाल व चौकी इंचार्ज को हटाने की भी मांग की गई है। 

एसपी ने बताया की मुकदमा दर्ज कर आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। गिरफ्तार आरोपियो ने पुछताछ में स्वीकार किया है कि झगड़े के बाद उन्ही लोगों ने हत्या की। परिजनों ने जो मांग पत्र दिया है उसपर जांच करायी जा रही है। गिरफ्तार अभियुक्तो में यस जायसवाल उर्फ हनीए नीलेश वर्माए अमिर तथा अमिर कुरैशी शामिल है। बताया गया है कि यस जायसवाल ने मृतक शिवा से 5 लाख रुपये की लेन देन का विवाद चल रहा था।



Browse By Tags



Other News