गन्ना क्रेशरों पर विभागीय अधिकारियों के संरक्षण में हो रही है लाखों की विद्युत चोरी 
| -RN. News Desk - Dec 26 2021 3:54AM
  • अधिशाषी अभियन्ता विनय कुमार पटेल पर जातिवाद का आरोप
  • इनके कार्यकाल में बिजली विभाग में हुए घपले घोटाले के जांच की उठी मांग
  • स्वजातीयों और हित-मित्रों पर विनय कुमार पटेल बरसाते हैं कृपा
  • अवैध कनेक्शन देकर प्रतिमाह कर रहे हैं लाखों की कमाई
  • अकबरपुर विद्युत वितरण खण्ड के अधिकारियों/कर्मचारियों की दसों अंगुलियां घी में....

अम्बेडकरनगर। अकबरपुर विद्युत वितरण खण्ड क्षेत्र के कई इलाकों में बिजली चोरी का बड़ा मामला चर्चा का विषय बना हुआ है। बताया गया है कि विभागीय अधिकारियों/कर्मचारियों की मिलीभगत से मिनी उद्योग धन्धों के लिए बगैर स्टीमेट ट्रान्सफार्मर लगाकर कनेक्शन दिया गया है जहां इन अधिकारियों को सुविधा शुल्क देकर लाखों रूपये की विद्युत चोरी की जा रही है, जबकि छोटे बकायेदारों की बिजली राजस्व वसूली के नाम पर काट दी जा रही है। यही नहीं रिहायशी इलाकों में यदि ट्रान्सफार्मर जल या उसमें तकनीकी खराबी आ गई है तो बिजली विभाग के अधिकारियों द्वारा उसको दुरूस्त कराने में कोई रूचि ही नहीं ली जाती। 

बताया गया है कि जिन-जिन इलाकों में अवैध विद्युत कनेक्शन के माध्यम से विद्युत चोरी की जा रही है उन क्षेत्रों में लाइन स्टाफ व विभागीय कर्मी प्रायः दौरा करते रहते हैं यह देखने के लिए कि किसी प्रकार की कोई विद्युत गड़बड़ी तो नहीं आई है। साथ ही इसकी एवज में लोगों से पैसा भी वसूलते हैं। कुल मिलाकर बिजली विभाग की देखरेख और संज्ञान में अवैध कनेक्शन लेकर विद्युत चोरी की जा रही है। 

बताया गया कि विद्युत वितरण खण्ड अकबरपुर क्षेत्र में कुछ धनाढ्य एवं प्रभावशाली लोगों को गन्ना क्रशर संचालन हेतु सारे विभागीय नियम कानून को ताक पर रखकर व्यावसायिक विद्युत कनेक्शन दिये गये है। घरेलू कनेक्शन लेकर लोग व्यावसायिक कार्य कर रहे हैं। इसकी जानकारी विभागीय अधिकारियों/कर्मचारियों को बखूबी है, बावजूद इसके इन पर कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। बिजली विभाग के अधिकारी चेकिंग के नाम पर छोटे व आम तबके के लोगों को विद्युत विच्छेदन का भय दिखाकर पैसों की वसूली कर रहे हैं। साथ ही छोटे विद्युत बकायेदारों की बिजली काटकर उनका मानसिक उत्पीड़न किया जा रहा है। 

अकबरपुर शहर के करीबी इलाकों में बगैर स्टीमेट बनाये ट्रान्सफार्मर लगाकर लोगों को कनेक्शन दिया गया है और उनसे मनमानी वसूली भी की जा रही है। बस स्टेशन से लेकर इल्तिफातगंज रोड, ऊँचे गांव, गौसपुर में विभागीय नियमों की सर्वथा अनदेखी की गई है। इन क्षेत्रों के लोगों का कहना है कि जब तक वर्तमान अधिशाषी अभियन्ता यहाँ तैनात हैं, यह सुविधा उनको मिलती रहेगी। 

जानकारों के अनुसार ट्रान्सफार्मर से 40 मीटर की दूर पर ही कनेक्शन देने का नियम है, परन्तु इल्तिफातगंज रोड, ऊँचे गांव, गौसपुर, महानगर कॉलोनी के पीछे, शिवाजी नगर में लोगों को 100 से 150 मीटर की दूरी पर विभागीय अधिकारियों की कृपा से कनेक्शन दिया गया है। बगैर स्टीमेट बनाये ही ट्रान्सफार्मर स्थापित किए गये हैं। इस इलाके के सभी नये भवनों के स्वामी बिजली विभाग के अभियन्ताओं/कर्मचारियों से याराना करके विद्युत का भरपूर उपयोग कर रहे हैं। बताया गया है कि अनेकों घरों में तो मीटर भी नहीं लगे हैं। यहाँ लोग मनमाने तरीके से विद्युत उपयोग कर रहे हैं। 

अकबरपुर इलाका गन्ना उत्पादन में अव्वल है। इस जिले में स्थापित एक मात्र चीनी मिल किसानों का गन्ना ले पाने में अक्षम है। यही कारण है कि जिले में गन्ना क्रेशरों की संख्या में इजाफा हो गया है। किसान इन्हीं क्रेशरों पर औने-पौने दाम पर अपनी उपज बेंचकर उससे मिले पैसों से अपना कार्य कर रहे हैं। ये क्रेशर संचालक घरेलू उपयोग हेतु या फिर बगैर वैध विद्युत कनेक्शन के क्रेशरों का धड़ल्ले से संचालन कर रहे हैं। विभागीय अधिकारियों/कर्मचारियों की मिलीभगत से उन्हें सुविधा शुल्क देकर लाखों रूपए की बिजली चोरी की जा रही है। 

समाजसेवी नीलरत्न मणि ने अधिशाषी अभियन्ता अकबरपुर विनय कुमार पटेल पर जातिवाद का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि इनके कार्यकाल में अकबरपुर विद्युत वितरण खण्ड क्षेत्र के तमाम इलाकों में अवैध विद्युत कनेक्शन दिये गये हैं। जिनसे प्रतिमाह लाखों रूपए की विभागीय राजस्व क्षति हो रही है। साथ ही विभाग के अधिकारी/कर्मचारी गण मालामाल हो रहे हैं। 

समाजसेवी ने कहा कि एक तरफ तो राष्ट्र हित में बिजली बचाने का नारा बुलन्द किया जाता है दूसरी तरफ अवैध रूप से विद्युत उपभोग करने वालों से साठ-गांठ करके स्वहितार्थ कमाई कर विभाग को राजस्व क्षति पहंचाई जाती है। राजीव गाँधी ग्रामीण विद्युतीकरण योजना में लाखों का घोटाला यहाँ के विद्युत अधिकारियों द्वारा किया गया है। जिसकी जाँच जनहित में परम आवश्यक है। नीलरत्न मणि ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को इस आशय का एक शिकायती पत्र प्रेषित करते हुए मांग किया है कि अधिशाषी अभियन्ता वि0वि0 खण्ड अकबरपुर के कार्यकाल में हुए घपले-घोटालों की जांच कर आवश्यक कार्रवाई की जाये। नीलरत्न मणि ने आरोप लगाया है कि अधिशाषी अभियन्ता विनय कुमार पटेल आम विद्युत उपभोक्ताओं से सीधे मुँह बात नहीं करते हैं। 

समाजसेवी ने आरोप लगाते हुए कहा है कि अकबरपुर वि0वि0 खण्ड के अधिशाषी अभियन्ता विनय कुमार पटेल के जातिवादी व धन कमाऊ रवैय्ये से अकबरपुर नगर क्षेत्र में कोई स्थाई अवर अभियन्ता आने को तैयार ही नहीं है। यहाँ का प्रभार मरैली विद्युत उपकेन्द्र के प्रभारी राम जनम गौतम लगभग वर्ष से देख रहे हैं। बता दें कि यहाँ तैनात रहे अवर अभियन्ता (जेई) रमेश कुमार मौर्य का स्थानान्तरण इस साल के शुरूआती दिनों में ही हो गया था। तब से यहाँ का कार्य रामजनम गौतम जेई मरैली उपकेन्द्र के जिम्मे है। 

पूर्ण कालिक जेई की तैनाती न होने से जिला मुख्यालयी शहर अकबरपुर/शहजादपुर की विद्युत वितरण व्यवस्था प्रायः अस्त-व्यस्त रहती है। समाजसेवी मणि ने कहा है कि विनय कुमार पटेल अधिशाषी अभियन्ता वि0वि0 खण्ड अकबरपुर सत्ता पक्ष के जिला स्तरीय उच्च पदस्थ पार्टी पदाधिकारियों के खासमखास कहे जाते हैं। स्वजातीय उच्च पदस्थ पार्टी पदाधिकारियों नेताओं के बलबूते पर यहाँ मनमाना करते हुए लूट मचाये हुए हैं। एक तरह से अधिशाषी अभियन्ता इं0 विनय कुमार पटेल को तानाशाह कहा जाये तो गलत नहीं होगा। इनकी कार्यशैली से विद्युत वितरण खण्ड अकबरपुर के आम उपभोक्ता व विभागीय कर्मी भी असन्तुष्ट हैं। 



Browse By Tags



Other News