जे.ई. नागेन्द्र कुमार सरकारी सेवा में आये नये लोगों के लिए बने आदर्श, पुराने भी लें सबक
| -RN. News Desk - Dec 28 2021 3:36AM

अम्बेडकरनगर में सरकारी ओहदे पर तैनात एक अवर अभियन्ता दम्पत्ति चर्चा का विषय बना हुआ है। पढ़े-लिखे, सरकारी कार्य दक्ष एवं मीडिया के लोग इस समय नागेन्द्र कुमार और श्रीमती नीतू कुमारी जो क्रमशः अवर अभियन्ता सिविल नपाप अकबरपुर और टाण्डा हैं के बारे में ही आपस में बातें करते देखे जा सकते हैं। खबरीलाल ने कहा कि बीते दिनों नपाप अकबरपुर बोर्ड की बैठक में अध्यक्ष और उनके काबीना द्वारा जे.ई. नागेन्द्र कुमार की कार्यशैली से असन्तुष्ट होकर उन्हें बोर्ड के कार्यभार से मुक्त कर दिया था। परन्तु नागेन्द्र कुमार ने बोर्ड के इस फैसले को चुनौती देकर शासन से अपनी बहाली करवा लिया। 

खबरीलाल के अनुसार फरवरी 2021 में बेमौसम ही नागेन्द्र कुमार अकबरपुर नपाप के अवर अभियन्ता (सिविल) पद पर अपनी तैनाती करवाये, और यहाँ से घनश्याम मौर्या का तबादला बाह्य जनपद के लिए करवा दिया। युवा इंजीनियर नागेन्द्र कुमार तभी से यहाँ चर्चा का विषय बने हुए हैं। इसी बीच उनकी पत्नी श्रीमती नीतू कुमारी का जे.ई. नपाप टाण्डा से रूदौली, बाराबंकी के लिए हो गया था। जिसे हाईकोर्ट में चुनौती देकर उन्होंने अपनी पत्नी का तबादला रूकवा लिया और तैनाती पुनः टाण्डा में करवाई। तभी से ये दोनों पति-पत्नी चर्चा में बने हुए हैं। नागेन्द्र कुमार को उत्तर प्रदेश शासन द्वारा अकबरपुर नपाप का चार्ज पुनः देने के उपरान्त चर्चा का बाजार गर्म हो गया है। लोगों द्वारा यह कहा जाना कि नपाप अध्यक्ष और उनकी काबीना को नगर निकाय के अधिकार का ज्ञान ही नहीं है। 

ठीक इसी तरह बीते बरसात के महीनों में नवागत ईओ श्रीमती बीना सिंह के साथ नपाप अध्यक्ष श्रीमती सरिता गुप्ता और उनकी प्रतिनिधि पति एवं अन्य सभासदों का व्यवहार सुर्खियों में रहा। तब भी अटकलो का बाजार गर्म हो गया था कि ईओ श्रीमती बीना सिंह यहाँ रहेंगी या नहीं। लेकिन श्रीमती सरिता गुप्ता ईओ बीना सिंह को यहाँ से हटाने व हटवाने में असफल रही। परिणाम यह है कि बीना सिंह एक साहसी और निडर महिला अधिकारी की भांति नगर पालिका के समस्त शासकीय कार्यों का कुशलता के साथ निर्वहन कर रही हैं। 

कुल मिलाकर जनपद के टाण्डा और अकबरपुर नपाप में तैनात अवर अभियन्ताओं और अधिशाषी अधिकारी की ही चर्चा हो रही है। बताया गया है कि जिले के 7 नगर पालिका व नगर पंचायतों में तैनात अधिकारियों व कर्मचारियों में सबसे ज्यादा चर्चा श्री नागेन्द्र कुमार, श्रीमती नीतू कुमार व श्रीमती बीना सिंह की ही हो रही है। 

खबरीलाल के अनुसार नागेन्द्र कुमार एक ऐसे परिवार से ताल्लुक रखते हैं, जिसकी पहुँच सत्ता के गलियारों और शासन के उच्च पदस्थ अधिकारियों तक है। यही कारण है कि नागेन्द्र कुमार और उनकी पत्नी श्रीमती नीतू कुमारी अपने तरीके से कार्य करते हैं और विरोधियों का न्यायालय व शासन स्तर से मुँह तोड़ जवाब देते हैं। लोगों का कहना है कि इस कम उम्र में जितनी कार्यकुशलता नागेन्द्र कुमार में है उतनी बहुत कम लोगों में देखी गई है। इनकी कार्यक्षमता, पहुँच का भरपूर लाभ इनकी धर्मपत्नी श्रीमती नीतू कुमार उठाती हैं। एक तरह से सरकारी सेवा में आने वाले सभी नये व्यक्ति (अधिकारी/कर्मचारी) नागेन्द्र कुमार को अपना आदर्श मानने लगे हैं। 



Browse By Tags



Other News