Rainbownews :: कथन -
*  समाचार पत्र "तेजस टूडे" ने मनाया सातवां स्थापना दिवस     *  पोंगा पंडित     *  काले धन को सफेद करना साबित हो रही नोटबंदी योजना     *  सजनी हमहूँ राजकुमार!     *  पुलिस डायरी अम्बेडकरनगर     *  देश के प्रत्येक विद्यार्थी को बाबा साहब की जीवनी का अध्ययन करना चाहिए: संतोष गंगेले     *  अम्बेडकरनगर : डॉ. अम्बेडकर के परिनिर्वाण दिवस पर पत्रकार घनश्याम भारतीय किए गए सम्मानित     *  अम्बेडकरनगर : बड़ा इमामबारगाह अकबरपुर परिसर मे स्थापित हुआ अलम मुबारक     *  शंकराचार्य को जेल भेजने वाली जयललिता     *  अम्बेडकरनगर : अखिल भारत हिन्दू महासभा ने मनाया शौर्य दिवस     *  हिन्दू विवाह के मायने    *  डॉ. अम्बेडकर परिनिर्वाण दिवस: दिक्कतों की भरमार, मिली गालियाँ....     *  वरिष्ठ पत्रकार डॉ. भूपेन्द्र सिंह गर्गवंशी को मिला लाइफ टाइम अचीवमेन्ट अवार्ड     *  अम्बेडकरनगर: अकबरपुर विद्युत उपकेन्द्र के एस.एस.ओ. ने डॉ. अम्बेडकर को दी गालियाँ    
Rainbow News
Thursday 8th of December 2016 11:34 PM

बस स्टेण्ड पर पार्किंग की व्यवस्था होने से यात्रियों को हो रही सुविधा

Update on : 29 August, 2013, 5:13

शहर के ज्यादा भीड़ वाले इलाकों में होनी चाहिए स्थाई पार्किंग 

सिरोही। समाचार। दिलीप कुमार मीणा। शहर के केन्द्रीय बस स्टेण्ड में पार्किंग होने से यात्रियों के लिए आवागमन में आसानी एवं टू व्हीलर वाहनों की सुरक्षा हो रही है। जहां पर अव्यवस्थित वाहन खड़े होते थे, वे आज पार्किंग होने से व्यवस्थित खड़े हो रहे है। जिससे रोडवेज प्रशासन व आमजन को फायदा हो रहा है| पार्किंग यहां पर होने से बस स्टेण्ड का विकास व सुरक्षा होरही है। रोडवेज प्रशासन से अनुबन्धित पार्किंग ठेकेदार रामलाल माली का कहना है कि एक साल पहले यहां पर पार्किंग व्यवस्था  नही थी ,तब बस स्टेण्ड के बाहर की जगह पर गंदगी थी। पर अब बस स्टेंड के बाहर की जगह देख लिही हो तो अलग अंदाज में ही नजर आयेगी व अति सुन्दर दिखेगी। पहले तो यात्री अपनी मर्जी के अनुसार बस स्टेंड में खी पर भी वाहन  खड़े करके चले जाते थे। जिससे बस स्टेंड का आवागमन मार्ग में यात्रियों व बस में बाधा आती थी। परन्तु अब ठेका लेने  से आसानी हो रही है।पार्किंग होने से सरकारी बसों की भी सुरक्षा होती है। यात्रियों के वाहनों की 24 घन्टे निगरानी रखी जारही है । शहर में ज्यादा भीड़ वाले इलाकों में स्थाई पार्किंग होनी चाहिए। भीड़-भाड वाले इलाकों में पार्किंग होंने से बाजारों में आने-जाने के लिये आसानी होती है और वाहनों की सुरक्षा होती है। पार्किंग का ठेका देने या विज्ञप्ति जारी होने से नगर निकाय को भी राजस्व का फायदा होता है। बेतरीब ढंग से आम सडकों के बीच खड़े होते वाहनों के खिलाफ जुर्माना राशि लेनी चाहिए। बाजारों में सड़क के बीचों बिच व अव्यवस्थित तरीके से खड़े वाहनों पर प्रशासन को जुर्माना लेना या चालान काटना चाहिए। ताकि सड़क अवरुद्द न हो एवं बाजारों में आवागमन की समस्या दूर हो सकती है।       


कथन