Rainbownews :: समाचार -
*  दहेज लोभी पति ने पत्नी को जान से मारा     *  मोदी का तिलिस्म कम हुआ     *  अब नवम्बर में लगेगा ‘अखबार मेला’     *  भाजपा नेता की पत्नी के निधन पर लोगों ने जताया शोक     *  काव्या का जन्मोत्सव धूमधाम से सम्पन्न     *  अम्बेडकरनगर के मुख्यालयी शहरों में चिटफण्ड एवं फाइनेन्सिंग कम्पनियों की भरमार     *  सुखदेव गौतम बने पूर्ति निरीक्षक     *  कश्मीर में हुई जल-प्लावन की त्रासदी से लाखों बेघर     *  बचना-बढ़ना हिंदी का...!!     *  सेवानिवृत्त शिक्षकों का विरोध करेगी शेरा     *  ‘एक लैला तीन छैला’ का स्टार विजिट जारी     *  वित्तविहीन स्कूलों को मानदेय दिलाने के लिए संघर्ष करेंगे-उमेश द्विवेदी     *  गंगा का जलीय पुनर्जीवन के बहाने होता दलीय पुनर्जीवन     *  साँई प्लाजा के मैनेजर व रिसेप्शनिस्ट होटल की साख पर लगा रहे हैं बट्टा    
Rainbow News
Thursday 18th of September 2014 03:06 AM

बस स्टेण्ड पर पार्किंग की व्यवस्था होने से यात्रियों को हो रही सुविधा

Update on : 29 August, 2013, 5:13

शहर के ज्यादा भीड़ वाले इलाकों में होनी चाहिए स्थाई पार्किंग 

सिरोही। समाचार। दिलीप कुमार मीणा। शहर के केन्द्रीय बस स्टेण्ड में पार्किंग होने से यात्रियों के लिए आवागमन में आसानी एवं टू व्हीलर वाहनों की सुरक्षा हो रही है। जहां पर अव्यवस्थित वाहन खड़े होते थे, वे आज पार्किंग होने से व्यवस्थित खड़े हो रहे है। जिससे रोडवेज प्रशासन व आमजन को फायदा हो रहा है| पार्किंग यहां पर होने से बस स्टेण्ड का विकास व सुरक्षा होरही है। रोडवेज प्रशासन से अनुबन्धित पार्किंग ठेकेदार रामलाल माली का कहना है कि एक साल पहले यहां पर पार्किंग व्यवस्था  नही थी ,तब बस स्टेण्ड के बाहर की जगह पर गंदगी थी। पर अब बस स्टेंड के बाहर की जगह देख लिही हो तो अलग अंदाज में ही नजर आयेगी व अति सुन्दर दिखेगी। पहले तो यात्री अपनी मर्जी के अनुसार बस स्टेंड में खी पर भी वाहन  खड़े करके चले जाते थे। जिससे बस स्टेंड का आवागमन मार्ग में यात्रियों व बस में बाधा आती थी। परन्तु अब ठेका लेने  से आसानी हो रही है।पार्किंग होने से सरकारी बसों की भी सुरक्षा होती है। यात्रियों के वाहनों की 24 घन्टे निगरानी रखी जारही है । शहर में ज्यादा भीड़ वाले इलाकों में स्थाई पार्किंग होनी चाहिए। भीड़-भाड वाले इलाकों में पार्किंग होंने से बाजारों में आने-जाने के लिये आसानी होती है और वाहनों की सुरक्षा होती है। पार्किंग का ठेका देने या विज्ञप्ति जारी होने से नगर निकाय को भी राजस्व का फायदा होता है। बेतरीब ढंग से आम सडकों के बीच खड़े होते वाहनों के खिलाफ जुर्माना राशि लेनी चाहिए। बाजारों में सड़क के बीचों बिच व अव्यवस्थित तरीके से खड़े वाहनों पर प्रशासन को जुर्माना लेना या चालान काटना चाहिए। ताकि सड़क अवरुद्द न हो एवं बाजारों में आवागमन की समस्या दूर हो सकती है।       

Tags :

Web Title :



समाचार