यहां पर एक नही बल्कि दो जिलों में खड़ी होती है ट्रेन, जानें देश के सबसे अनोखे रेलवे स्टेशन के बारे में

भारतीय रेलवे में प्रतिदिन लाखों यात्रियों सुरक्षित और किफायती सफर करते हैं. भारतीय रेलवे (Indian Railways) दुनिया में चौथा और एशिया का दूसरा सबसे बड़ा रेल नेटवर्क माना जाता है. भारतीय रेल को देश की लाइफ लाइन कहा जाता है. यूं तो ट्रेनों के ठहराव के लिए देश में हजारों रेलवे स्टेशन हैं लेकिन हम आपको उत्तर प्रदेश के ऐसे अनोखे रेलवे स्टेशन के बारे में बताने जा रहे हैं जिसका प्लेटफार्म दो जिलों के सीमा क्षेत्र में पड़ता है. ऐसे में जब ट्रेन रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म पर खड़ी होती है तो उसका आधा हिस्सा एक जिले में होता है तो वहीं दूसरा आधा हिस्सा दूसरे जिले के सीमा क्षेत्र में रहता है.




देश का यह अनोखा रेलवे स्टेशन उत्तर प्रदेश के कानपुर देहात में है. दिल्ली- हावड़ा रेलवे रूट वाया कानपुर देहात जिले में औरैया और कानपुर देहात जिले के बीच बार्डर पर स्थित कंचौसी रेलवे स्टेशन (Kanchausi Railway Station) है, जिस स्टेशन पर एक ही समय खड़ी होने वाली आधी ट्रेन कानपुर देहात और आधी ट्रेन औरैया जिले में खड़ी होती है.


बता दें कि प्रयागराज मंडल के अंतर्गत आने वाला कंचौसी रेलवे स्टेशन कानपुर देहात के मुख्यालय से 45 से 50 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है. इस स्टेशन पर कानपुर देहात और औरैया दोनों जिलों के कई दर्जन गांव के लोग ट्रेन पकड़ने के लिए आते हैं.


हालांकि, कंचौसी रेलवे स्टेशन का स्टेशन ऑफिस कानपुर देहात जिला के सीमा क्षेत्र में है, लेकिन इसके प्लेटफार्म कानपुर देहात और औरैया जिले की सीमा के परिधि में आते है.दरअसल, कानपुर देहात, कानपुर महानगर सीमा से सटा हुआ जिला है. कानपुर देहात में यातायात के साधनों की बात करें तो कानपुर देहात जिले से 2 नेशनल हाईवे निकलते हैं.जिसमे एक कानपुर- झांसी नेशनल हाईवे और दूसरा कानपुर इटावा नेशनल हाईवे शामिल है. साथ ही इस जिले में दो रेलवे रूट भी हैं. एक दिल्ली- हावड़ा रेल रूट और दूसरा कानपुर- झांसी रेलवे रूट है.


Post a Comment

أحدث أقدم