'हनुमान जी की 8 शक्तियों में से एक हैं बागेश्वर धाम सरकार', BJP के पूर्व विधायक का बयान वायरल

बीजेपी नेता रघुनंदन शर्मा ने कहा कि हनुमान जी को आठ शक्तियों में से एक शक्ति बागेश्वर धाम के धीरेंद्र शास्त्री के पास है.इसी से वह लोगों के मन की बातों का पता लगा लेते हैं.







बागेश्वर धाम के पीठाधीश्वर बाबा धीरेंद्र शास्त्री इन दिनों काफी चर्चा में हैं.उन पर अंधविश्वास फैलाने के आरोप लग रहे हैं.आरोप प्रत्यारोप के बीच मध्य प्रदेश के राजगढ़ के वरिष्ठ बीजेपी नेता और पूर्व विधायक रघुनंदन शर्मा ने धीरेंद्र शास्त्री का खुलकर समर्थन किया है. उन्होंने हनुमानजी की शक्तियों की तुलना बाबा बागेश्वर धाम के धीरेंद्र शास्त्री से की है.उन्होंने कहा है कि हनुमान जी को मिली आठ शक्तियों में से एक शक्ति बागेश्वर धाम के धीरेंद्र शास्त्री के पास है.इसी शक्ति से वह लोगों के मन में चल रही बातों का पता लगाकर उसे कागच पर लिख देते हैं.


बीजेपी के वरिष्ठ नेता रघुनंदन शर्मा ने राजगढ़ में मीडिया से बातचीत में हनुमान चालीसा की चौपाई का उदाहरण दिया. उन्होंने कहा कि हनुमान चालीसा की एक चौपाई है, 'अष्ट सिद्धि नव निधि के दाता.अस बर दीन जानकी माता' मतलब हनुमानजी को माता जानकी ने आठ शक्तियां दी थीं. उन्ही शक्तियों में से एक शक्ति अगर किसी के पास है, तो वे हैं धीरेंद्र शास्त्री बाबा.वह आध्यात्मिक शक्ति है, जिससे वो लोगों के मन की बातों को पढ़कर कागज पर लिख देते हैं. ये कोई आश्चर्य की बात नहीं है. उन्होंनेक हा कि इस तरह की शक्तियां हिंदू धर्म में बहुत लोगों के पास रही हैं.


उन्होंने कहा, ''जिन लोगों को भारतवर्ष का इतिहास मालूम नहीं है और न जिनकी धार्मिक पृष्ठभूमि है और न उनका कोई आध्यात्मिक ज्ञान है.वे लोग जरूर इस तरह की बातें कर सकते हैं.मैं तो अपने विश्वास से कह सकता हूं कि किसी के पास मन की बात जानने वाली शक्ति अगर है तो वहां हमारे शास्त्री जी को प्राप्त है.वो कोई अंतिम व्यक्ति नहीं हैं, जिनको यह शक्ति प्राप्त है.इसके बाद भी कई लोगों को यह शक्ति प्राप्त होगी.क्योंकि यहां शक्ति कोई भी व्यक्ति प्राप्त कर सकता है.आध्यात्मिक ज्ञान के माध्यम से. आध्यात्मिक तप के माध्यम से. हम अगर प्रयास करें तो वह शक्ति हमे भी प्राप्त हो सकती है.''उन्होंने कहा कि लेकिन कुछ लोगों को यह आश्चर्य लगता है तो कुछ लोगों को जादू लगता है.जबकि जादू-वादु कुछ नहीं है ये हमारी आध्यात्मिक शक्ति है. इसे केवल तप और साधना से ही प्राप्त किया जा सकता है.


राजगढ़ निवासी रघुनंदन शर्मा पिछले 33 साल से बीजेपी की राजनीति कर रहे हैं. राजनीति में आने से पहले वह कलेक्ट्रेट कार्यालय में यूडीसी के पद पर कार्यरत थे.वो कर्मचारी संघ के जिलाध्यक्ष थे. वो 1959 से आरएसएस से जुड़े रहे हैं. शर्मा ने 1990 में पहली बार बीजेपी से विधायक का चुनाव लड़ा और जीत कर राजगढ़ के विधायक बने. यहीं से उन्होंने अपने राजनीतिक जीवन की शुरूआत की. इसके बाद दूसरी बार 1993 में  चुनाव जीतकर विधायक बने. वो 1998 तक विधायक रहे.  शर्मा बीजेपी प्रदेश की कार्यकरणी समिति में सदस्य रहे. राष्ट्रीय परिषद सदस्य रहे. खादी ग्राम उद्योग बोर्ड के प्रदेश उपाध्यक्ष रहने पर उन्हें राज्य मंत्री का दर्जा भी मिला.

Post a Comment

أحدث أقدم