मौलाना तौकीर रजा ने प्रधानमंत्री मोदी को बताया 'भगवान', स्वामी प्रसाद मौर्य पर दिया यह बयान

स्वामी प्रसाद मौर्य के बयान पर मौलाना ने कहा कि किसी की आस्था को ठेस पहुंचाना गंभीर बात है। उन्होंने कहा कि मौर्य ने जो बयान आज दिया है, वह तब क्यों नहीं दिया, जब वे भाजपा में थे। सत्ता के सहयोगी थे। 








इत्तेहाद-ए-मिल्लत काउंसिल (आईएमसी) के प्रमुख मौलाना तौकीर रजा खां ने एक चैनल से बातचीत के दौरान सवाल के जवाब में कहा कि स्वामी प्रसाद मौर्य एक जिम्मेदार व्यक्ति है। मौर्य ने रामचरितमानस पर प्रतिबंध की बात कही, किस वजह से कही, यह मांग उन्हें आज करने की क्या जरूरत पड़ी। जब वे भाजपा में थे, सत्ता में सहयोगी थे। यह मांग उन्हें तब करनी चाहिए थी।



मौलाना ने कहा कि किसी की आस्था को ठेस पहुंचाना गंभीर बात है। तौकीर रजा खां ने तंज कसते हुए कहा कि स्वामी प्रसाद मौर्य पर सवाल का जवाब आधुनिक युग के भगवान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लेना चाहिए, वे अच्छा जवाब दे सकते हैं। वे बताएं कि उनकी रामचरितमानस में कितनी आस्था है। उन्होंने कहा कि ढोल, गवार, शुद्र सब पीटे जा रहे हैं। लड़कियां उठाई जा रही हैं।  



तौकीर रजा ने कहा कि प्रधानमंत्री की आस्था रामचरितमानस में हैं। हर हिंदू की आस्था होना भी चाहिए। उस आस्था के खिलाफ नए भगवान, जो हमारे देश में पैदा हुए। उन्होंने बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ की चर्चा शुरू की। बहुत अच्छी बात है। ऐसा होना चाहिए, लेकिन रामचरितमानस में जो बताया गया है उसके खिलाफ हुकूमत जो कर रही, वह हिंदुत्व के खिलाफ है।


मौलाना ने कहा कि मुसलमानों को मारा जाता है। उनके साथ सौतेला व्यवहार किया जाता है तो पहले तो यह तय करो कि आप की आस्था किस में है। जहां तक स्वामी प्रसाद मौर्य ने जो कहा है उसका जवाब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी या सुपर प्रधानमंत्री मोहन भागवत ही दे सकते हैं।



धीरेंद्र शास्त्री पर मौलाना ने कहा कि मैं उन्हें नहीं जानता। आजकल यह ट्रेंड चल रहा है कि भड़काऊ बातें कीजिए। उसके बाद यह कह दीजिए कि हमें जान से मारने की धमकी मिल रही है, हमें सुरक्षा दी जाए। उन्होंने कहा कि कोई हिंदू राष्ट्र बनाना चाहता है तो हम उसके सख्त खिलाफ हैं। हम अपने देश को अच्छा हिंदुस्तान बनाना चाहते हैं, विश्वगुरु बनाना चाहते हैं। 

Post a Comment

أحدث أقدم